website counter widget

पिता और बेटी की लाश की तस्वीर देख सिहर उठे लोग

0

हाल ही में एक तस्वीर सोशल मीडिया पर पूरी दुनिया में वायरल हो रही है, जिसे देखकर आप भी करुणा से भर उठेंगे | यह ह्रदयविदारक तस्वीर देखकर आप भी सिहर उठेंगे| यह तस्वीर अमेरिका और मेक्सिको के बीच फंसे रिफ्यूजियों की हालत बयां कर रही है| गौरतलब है कि अमेरिका और मैक्सिको के बीच फंसे रिफ्यूजियों की स्थिति आए दिन बद से बदतर होती जा रही है| एक से दूसरे देश जाने के दरमियान कई ऐसे मंज़र और खबरें सामने आ रही हैं, जिनके बारे में जानकर लोग सिहर रहे हैं|

VIDEO : विधायक आकाश विजयवर्गीय के कत्ल की साजिश!

ताजा मामला भी कुछ ऐसा ही है| दरअसल, उत्तर अमेरिका की सीमा से लगी रियो ग्रांडे नदी के किनारे एक पिता और बेटी की लाश बरामद हुई है, जिसकी तस्वीर सभी दूर वायरल हो रही है| लोग तस्वीर देखकर अपनी संवेदनाएं व्यक्त कर रहे हैं |

इस तस्वीर ने तीन साल पहले सामने आई अयलान कुर्दी की उस तस्वीर की याद दिला दी है, जिसमें तीन साल का बच्चा समुद्र किनारे मृत पाया गया था | तस्वीर में देख सकते हैं कि किस तरह से 2 साल की बच्ची का सिर  उसके पिता की टीशर्ट के भीतर है| ऐसा लगता है कि ज़िंदगी के आखिरी पल में पिता-पुत्री एक-दूसरे को गले लगाए हुए थे|

अखबार ला जोर्नडा के लिए ले ड्यूक की रिपोर्टिंग के अनुसार, 23 वर्षीय ऑस्कर अलबर्टो मार्टिंज रमिरेज इसलिए हताश था क्योंकि अल सल्वाडोर का परिवार शरण पाने के लिए अमेरिकी अधिकारियों के सामने खुद को पेश करने में असमर्थ था| ऐसे में वह अपनी बेटी वेलेरिया के साथ रविवार को नदी में गया|

Video : आखिर क्यों लड़की ने रॉड से पीटा लड़के को

अलबर्टो ने बच्ची को नदी के अमेरिकी तट पर खड़ा कर दिया और अपनी पत्नी तानिया वैनेसा ओवलोस को लाने के लिए वापस जाने लगे, लेकिन उसे दूर जाते देख लड़की खुद पानी में कूद गई| अलबर्टो वापस आ गए और उन्होंने वेलेरिया को पकड़ लिया, लेकिन पानी के बहाव में दोनों बह गए|

अलबर्टो की मां रमिरेज ने बताया, “मैंने इन सभी को जाने से मना किया था, लेकिन वे नहीं माने| लड़की ने छलांग लगाकर  अलबर्टो तक पहुंचने की कोशिश की, लेकिन जब तक अलबर्टो उसे पकड़ पाते, वह आगे बढ़ गई और बाहर नहीं निकल पाई| अलबर्टो ने उसे अपनी शर्ट में डाल दिया और मुझे लगता है कि उसने खुद से कहा, मैं बहुत दूर आ गया हूं और उसके साथ जाने का फैसला किया|

मेक्सिको के राष्ट्रपति आंद्रेस मैनुअल लोपेज़ ओबराडोर ने मंगलवार को एक प्रेस वार्ता में कहा, “यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है कि ऐसा हो रहा है| बीते दिनों एक भारतीय मूल की 7 वर्षीय बच्ची के भी एरिजोना के रेगिस्तान में मारे जाने की खबर आई थी|

महिलाओं ने लिया बच्चे न पैदा करने का फैसला, कारण ?

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.