मानवाधिकारों का दुश्मन है आतंकवाद

0

भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज चीन की चार दिवसीय यात्रा पर गई हुई हैं| आज उनके दौरे का अंतिम दिन है| सुषमा ने मंगलवार को एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पाकिस्तान पर निशाना साधा और उसे मानवाधिकारों का दुश्मन बताया|

सुषमा ने अपने संबोधन में कहा, “आतंकवाद मूल मानवाधिकार का दुश्मन है, आतंक के खिलाफ लड़ाई में ऐसे देशों की पहचान करने की भी जरूरत है, जो उसे बढ़ावा, समर्थन व धन देते हैं और आतंकी समूहों को सुरक्षित पनाहगाह मुहैया कराते हैं|”

उन्होंने आगे कहा कि आज दुनिया के सामने कई चुनौतियां हैं| सबसे बड़ी चुनौती वैश्विक आतंकवाद है और उससे लड़ने के लिए तुरंत मजबूत सुरक्षा ढांचा तैयार करने की जरूरत है| आतंकवाद मौलिक मानवाधिकारों जीवन, शांति और समृद्धि का दुश्मन है|

Share.