website counter widget

कमेंट लड़की के लिए आत्महत्या का कारण बन गए

0

सोशल मीडिया ने एक लड़की की जान ले ली | आप सोच रहे होंगे कि आखिर कैसे ? दरअसल, आप जब भी किसी से सोशल मीडिया के जरिये कोई सवाल पूछते हैं तो इसके लिए वे पोल फीचर की मदद लेते हैं| यानी आप सवाल करते हैं और अन्य यूज़र उसका जवाब कमेन्ट के रूप में देते हैं |बस यही कमेन्ट करना एक लड़की के लिए आत्महत्या का कारण बन गए|

विजन डॉक्युमेंट बनाने वाले अनुरोध जैन नाराज़, दिया इस्तीफ़ा

गौरतलब है कि एक ओर सोशल मीडिया जहां अनजान और बिछड़े लोगों से जुड़ने में लोगों की मदद कर रहा है वहीं दूसरी ओर लोग इसका गलत इस्तेमाल भी कर रहे हैं। इसी पोल ने एक लड़की को आत्महत्या करने पर मजबूर दिया और लड़की ने जान दे दी।

प्राप्त जानकारी के अनुसार, मलेशिया में एक 16 साल की लड़की ने इंस्टाग्राम पर अपनी मौत को लेकर सवाल किया था, जिसमें उसने लोगों से पूछा था कि वह जिये या मर जाए ? इस पोल पर 69 प्रतिशत लोगों ने कमेन्ट किया कि मर जाओ। इन कमेंट्स को पढ़ने के बाद लड़की ने आत्महत्या कर ली।

फिर दहाड़े शिवराज सिंह, कहा …..

इसका खुलासा पुलिस रिपोर्ट में हुआ है। पुलिस ने अपनी रिपोर्ट में जानकारी दी है कि लड़की ने आत्महत्या करने से ठीक पहले इंस्टाग्राम पर एक पोस्ट की थी, जिसमें उसने अपने फॉलोअर्स से जिंदा रहने और मर जाने दोनों में से एक को चुनने के लिए कहा था।

रिपोर्ट के मुताबिक, लड़की ने अपने इंस्टाग्राम पोल में पूछा था ‘Really Important, Help Me Choose D/L’  मतलब “यह काफ़ी महत्वपूर्ण है, मौत और ज़िन्दगी में से एक को चुनने में मेरी मदद करें |  इसके बाद 69 फीसदी लोगों ने ‘डी’ यानी मौत (death) पर अपना वोट दिया और लड़की ने आत्महत्या कर ली।

वहीं मलेशिया के युवा और खेल मंत्री सैयद सिद्दीक अब्दुल रहमान ने कहा, “मानसिक स्वास्थ्य को लेकर राष्ट्रीय स्तर पर एक गंभीर चर्चा की आवश्यकता है।“ इसके अलावा पेशे से वकील और पेनांग में सांसद रामकरपाल सिंह ने अपने एक बयान में कहा, “यदि अधिकांश लोगों ने इंस्टाग्राम पोल पर जान लेने की सलाह नहीं दी होती तो 16 साल की लड़की आज ज़िन्दा होती।  ऐसे में पोल में हिस्सा लेने वालों पर आत्महत्या के लिए उकसाने के लिए कार्रवाई की जा सकती है। साथ ही मलेशिया के कानून के मुताबिक भारी-भरकम जुर्माना के साथ 20 साल की कैद भी हो सकती है।“

SC ने दिया वसीम रिजवी को समर्पण का आदेश

Summary
Review Date
Author Rating
51star1star1star1star1star
Loading...
Share.