नॉर्वे में अब नहीं होगी घड़ियों की टक टक…

0

ज़रा सोच के देखिये अगर दुनिया में घड़ियां  न होती। टाइम से ऑफिस जाओ, टाइम से घर आओ, टाइम से सो जाओ और न जाने क्या-क्या? आपको यह जानकार हैरानी होगी कि पहली बार दुनिया में टाइम फ्री जोन बनाने जा रहा है।  पहली बार एक ऐसी जगह बनने जा रही है, जहां वक़्त को लेकर न ही कोई पाबन्दी होगी और न ही कोई अनुसाशन होगा। जी हां! 350 लोगों की आबादी वाला नॉर्वे के (Sommaroy Island Norway World’s First Time Free Zone) सोमारॉय (Sommaroy Island) नाम का  द्वीप दुनिया का पहला टाइम फ्री जोन (Time Free Zone) बनने जा रहा है। यह एक ऐसा द्वीप (island) है, जहां रात को भी सूरज अस्त नहीं होता (sun never sets)है। यही कारण है कि वहां के लोग खुद को हर पल आज़ाद (freedom) पाते हैं। यह ऐसी आज़ादी जो घड़ी की सुइयों से मुक्त है।

द्वीप का टाइम फ्री ज़ोन एक कैंपेन (time free zone is a campaign) है जो कि जेल ओव ह्वेडिंग द्वारा चलाया जा रहा है। ह्वेडिंग का कहना है, “पूरी दुनिया में लोग तनाव और डिप्रेशन (streen and depression) में हैं। कई मामलों में लोग खुद को घड़ी की सुईयों में फंसा हुआ महसूस करते हैं। (Sommaroy Island Norway World’s First Time Free Zone)  यह एक ऐसा कैंपेन है जब हम टाइम के कॉन्सेप्ट से मुक्त होंगे और जहां पर हर कोई अपनी जिंदगी बिना वक्त की पाबंदी के जिएगा। हम अपनी जिंदगी को 24/7 लचीला रखना चाहते हैं। अगर आप सुबह 4 बजे लॉन की घास काटना चाहते हैं तो आप ऐसा कर सकते हैं या फिर दोपहर के दो बजे चाय पीना चाहते हैं तो वो भी कर सकते हैं।”

कंपैनर ह्वेडिंग ने बताया, यहां के लोगों की आय का जरिया टूरिज्म और फिशिंग (tourism and fishing) है। उनका यह मानना है कि लोग जब जो चाहे वह काम करें। सोमारॉय ऐसा द्वीप है, (Sommaroy Island Norway World’s First Time Free Zone) जहां 18 मई को सूरज उगता है। फिर वो 26 जुलाई तक नहीं ढलता। इस जगह हर तरह की आज़ादी है, जो दुनिया में और कहीं नहीं है। फिलहाल, काफी पर्यटकों ने इस टाइम फ्री जोन के विचार को सराहा है और कुछ लोग ने तो घड़ियां पहनना भी छोड़ दी हैं। 

Share.