website counter widget

Video : इस प्राचीन बौद्ध मंदिर का पुजारी है रोबोट Android Kannon

0

यह बात तो हर एक व्यक्ति को पता होगी कि मंदिर में पूजा-पाठ करने और मंदिर में विराजित भगवान की देख-रेख के लिए पुजारी होता है। हालांकि कई मंदिरों में महिलाएं भी पुजारी कर कार्य करती हुई नज़र आती हैं। लेकिन क्या अपने कभी सुना है कि किसी मंदिर में रोबोट पुजारी (Robot Priest Android Kannon) हो या कोई रोबोट पुजारी का कार्य करता हो? यह बात सुनकर आपको हैरानी तो जरूर हुई होगी लेकिन यह बात पूरी तरह से सत्य है। दरअसल जापान में एक ऐसा बौद्ध मंदिर (Kodaiji Temple) है जो न सिर्फ बेहद प्राचीन है, बल्कि इस मंदिर का पुजारी कोई इंसान नहीं बल्कि रोबोट (Robot Priest Android Kannon) है। जी हां सबसे पहले तो आपको यह बता दें कि यह मंदिर 400 वर्ष पुराना है। इतने प्राचीन बौद्ध मंदिर का पुजारी भी कोई इंसान नहीं बल्कि एक रोबोट (Robot Priest Android Kannon) है। इस मंदिर में पुजारी के तौर पर एक रोबोट को नियुक्त किया गया है जो पुजारी के हर कार्य को आसानी से करता है।

जापान के 400 वर्ष पुराने इस बौद्ध मंदिर में जिस रोबोट को पुजारी के रूप में नियुक्त किया गया है, उस रोबोट का नाम एंड्रॉयड कैनन (Robot Priest Android Kannon) है। इस रोबोट पुजारी को क्योटो के कोदाइजी मंदिर (Kodaiji Temple) में पुजारी नियुक्त किया गया है। यह एंड्रॉयड कैनन (Robot Priest Android Kannon) रोबोट पुजारी न सिर्फ हाथ जोड़कर प्रार्थना करता है, बल्कि इस कोदाइजी मंदिर (Kodaiji Temple) में आने वाले श्रद्धालुओं को दया और करुणा का पाठ भी पढ़ाता है। इस रोबोट एंड्रॉयड कैनन (Android Kannon) पुजारी की मदद अन्य पुजारी करते हैं।

इस रोबोट पुजारी एंड्रॉयड कैनन (Robot Priest Android Kannon) के बारे में इस मंदिर के एक अन्य पुजारी टेन्शो गोटो ने बताया कि, “यह रोबोट कभी नहीं मरेगा। यह समय के साथ खुद को और विकसित करता जाएगा। यहीं इस रोबोट की खासियत है।” इस रोबोट पुजारी एंड्रॉयड कैनन (Robot Priest Android Kannon) के बारे में अधिक जानकारी देते हुए पुजारी टेन्शो गोटो ने कहा कि, “रोबोट से हमें उम्मीद है कि बदलते बौद्ध धर्म के अनुसार यह अपने ज्ञान में वृद्धि करेगा, ताकि लोगों को उनके सबसे कठिन मुसीबतों से दूर होने में मदद मिल सके।”

गौरतलब है कि यह रोबोट एंड्रॉयड कैनन (Android Kannon) तकरीबन 6 फ़ीट लम्बा है और इसके हाथ, चेहरे और कंधों को सिलिकॉन से निर्मित किया गया है। यह बिलकुल इंसान की त्वचा जैसा ही दिखाई देता है। हालांकि इसे देखकर कोई भी बता सकता है कि यह इंसान नहीं बल्कि एक रोबोट है। इस रोबोट एंड्रॉयड कैनन (Android Kannon) को निर्मित करने में तकरीबन 10 लाख रुपए का खर्च आया है। इसे ओसाका विश्वविद्यालय के प्रसिद्ध रोबोटिक्स प्रोफेसर और जेन टेंपल (मंदिर) की सहायता से निर्मित किया गया है।

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.