अब पाक से कोई बातचीत नहीं : मोदी

0

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी किर्गिस्तान में आयोजित शंघाई सहयोग संगठन (SCO) के सम्मेलन में शामिल होने बिश्केक पहुंच चुके हैं। बिश्केक में आयोजित यह सम्मेलन आज यानी 13 जून से शुरू हो गया है। यह सम्मलेन 14 जून तक चलेगा। इस सम्मलेन के पहले दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से बातचीत की।

भारत की 57 कंपनियां फोर्ब्स मैगजीन की सूची में

गौरतलब है कि कल यानी 14 जून को भारत इस सम्मलेन के आयोजक किर्गिस्तान के साथ बैठक करेगा। इस सम्मलेन में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भी शिरकत की लेकिन भारत की तरफ से पाकिस्तान के साथ कोई भी द्विपक्षीय बैठक नहीं की गई। प्रधानमंत्री मोदी और पाक पीएम इमरान खान के बीच कोई भी द्विपक्षीय बैठक या बातचीत नहीं की जाएगी। वहीं SCO सम्मलेन के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी ने चीन के राष्ट्रपति जिनपिंग को उनके आने वाले जन्मदिन (15 जून) की एडवांस में शुभकामनाएं दी। साथ ही पीएम मोदी ने जिनपिंग की तरफ से आम चुनाव की जीत के बाद मिले बधाई संदेश के लिए आभार व्यक्त किया।

विदेश सचिव विजय गोखले ने बताया कि इस सम्मलेन में पीएम मोदी और जिनपिंग के बीच पाकिस्तान मुद्दे को लेकर काफी विस्तार से चर्चा भी हुई। लेकिन पीएम मोदी ने जिपनिंग को स्पष्ट रूप से कह दिया कि मौजूदा हालात में पाकिस्तान से भारत कोई भी बातचीत नहीं करेगा। आगे पीएम मोदी ने कहा कि भारत ने हमेशा ही रिश्ते को सुधारने की कोशिश की है, लेकिन पाकिस्तान की तरफ से हर बार ही निराशा हाथ लगी। उन्होंने कहा कि जब तक पाकिस्तान आतंकवाद के खिलाफ कोई कड़ा कदम नहीं उठता तब तक उससे बातचीत संभव नहीं है। फिलहाल पाकिस्तान की तरफ से अभी ऐसा कुछ होते दिखाई नहीं पड़ रहा है। लेकिन हम उम्मीद करते हैं कि पाकिस्तान जल्द ही आतंकवाद के खिलाफ बड़ी और ठोस कार्रवाई करेगा।

Junior Doctors Strike : बंगाल बवाल के बाद पूरे देश में डॉक्टरों की हड़ताल

दरअसल चीन पाकिस्तान को अपना सदाबहार दोस्त मानता है और हर बार ही भारत और पाकिस्तान के संबंधों को बेहतर बनाने के लिए पहल करने के लिए कहता आया है। इस बार पीएम मोदी ने उसे साफ़ तौर पर कह दिया है कि पाकिस्तान से कोई भी बातचीत नहीं होगी। इसी दौरान रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से पीएम मोदी ने कहा, “अमेठी में राइफल बनाने के प्रोजेक्ट के लिए आपने जिस तरह समर्थन दिया, इसके लिए मैं आभारी हूं। अगर हम तय करें, तो तय समय सीमा में कितना बड़ा काम कर सकते हैं, ये आपने प्रस्तुत किया।”

गर्मी से परेशान शख्स ने सूर्य पर कानूनी कार्रवाई करने को कहा

Share.