website counter widget

पाकिस्तान को कंगाल करने पर इमरान खान का इस्तीफा…..

0

इस्लामाबाद: जम्मू- कश्मीर(Jammu-Kashmir) से धारा 370 हटने के बाद पाकिस्तान(Pakistan) की अर्थव्यवस्था लगातार गिरती जा रही है। बालाकोट एयरस्ट्राइक से लेकर बदहाल अर्थव्यवस्था और कश्मीर मुद्दे (Kashmir Issue) पर इमरान खान सरकार बुरी तरह घिर चुकी है। इस बीच पाकिस्तान (Pakistan Seeks Resignation From PM) में विपक्ष भी इमरान (PM Imran Khan) पर लगाताक हमलावर रुख अख्तियार किए हुए है। पाकिस्तान के जमीयत उलेमा-ए-इस्लाम (Jamiat Ulema-e-Islam) के नेता मौलाना फजलुर्रहमान (Maulana Fazlur Rahman) ने इमरान सरकार को सत्ता से हटाने के लिए इस्लामाबाद (Islamabad) तक आजादी मार्च निकालने की तैयारी की है. लेकिन इमरान खान किसी भी हालत में प्रधानमंत्री का पद छोड़ने के लिए तैयार नहीं है।

पाकिस्तान के पूर्व पीएम की हालत गंभीर

जानकारी के अनुसार इमरान (Pakistan PM Imran Khan) सरकार ने कहा कि वो मौलाना फजलुर्रहमान के दबाव में बिलकुल नहीं आने वाले हैं. एक घंटे से अधिक समय तक स्थानीय वरिष्ठ पत्रकारों और विश्लेषकों के साथ चली बैठक में प्रधानमंत्री ने जमीयत उलेमा-ए-इस्लाम की ओर से उठाई जा रही मांगों के बारे में बात की. बैठक में मुद्रस्फीति के मुद्दों, बेरोजगारी और विदेश नीति को लेकर बेहतर प्रयास करने पर बातचीत हुई।

दिवाली से पहले प्रदूषण को लेकर MP सरकार हुई सख्त

प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan Resignation) ने कहा कि मौलाना फजलुर्रहमान को साजिश के तहत ऐसा करने के लिए कहा गया है. जानकारी के अनुसार प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा है कि ‘मेरे इस्तीफे का कोई सवाल नहीं है और मैं इस्तीफा नहीं दूंगा. आजादी मार्च एक एजेंडे पर आधारित है और इसमें विदेशी समर्थन है. प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा है कि जेयूआई-एफ के विरोध से भारत में खुशी का माहौल है (Pakistan Seeks Resignation From PM). बैठक में इमरान खान ने स्वीकार किया कि महंगाई और बेरोजगारी एक बड़ी समस्या है, जिसे सरकार की तरफ से बेहतर बनाने के प्रयास किये जा रहे है।

Haryana Assembly Elections Result Live : खट्टर को कांग्रेस की कांटे की टक्कर!

-Mradul tripathi

ट्रेंडिंग न्यूज़
[yottie id="3"]
Share.