website counter widget

FATF की बैठक में पाकिस्तान को मिली राहत

0

पेरिस: इन दिनों टेरर फंडिंग (Terror Funding) और मनी लॉन्ड्रिंग (Money Laundering) पर नजर रखने वाली फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (FATF) की एक अहम बैठक फ्रांस की राजधानी पेरिस(Peris) में हो रही है.पाकिस्तान पहले से ही ग्रे लिस्ट में है. और उसपर ब्लैकलिस्ट (Pakistan In The Dark Grey List) होने का खतरा मंडरा रहा था। लेकिन इस अहम बैठक में एक बार फिर पाकिस्तान (Pakistan) ब्लैक लिस्ट होने से बच गया.जानकारी के अनुसार FATF ने पाकिस्तान को फटकार लगाते हुए फरवरी 2020 तक का समय दिया है. FATF की ओर से पाकिस्तान को हिदायत दी है कि वह आतंकियों पर कार्रवाई करने संबंधी एक्शन प्लान पूरा करे. इसी के साथ चेतावनी भी दी गई है कि अगर तय समय तक पाकिस्तान ने आतंकियों को दी जाने वाली फंडिंग पर रोक लगाने के संबंध में कोई कारगर कदम नहीं उठाया तो उस पर कार्रवाई की जाएगी.

FATF की तरफ से पाकिस्‍तान को कड़े रुख से कहा है कि टेरर फंडिंग और मनी लॉन्ड्रिंग को पूरी तरह से खत्‍म करने के लिए और ज्‍यादा कठोर कदम उठाए. पेरिस में शुक्रवार को हुई बैठक में एफएटीएफ ने टेरर फंडिंग को रोकने के लिए पाकिस्‍तान की ओर से अब तक उठाए गए कदमों की समीक्षा की. अब एफएटीएफ पाकिस्‍तान की स्थिति पर अंतिम फैसला फरवरी 2020 में ही लेगा. चीन के पास एफएटीएफ का अध्‍यक्ष पद भी है.  पाकिस्तान वर्तमान समय में भारी मंदी के दौर से गुजर रहा है वहां की जनता दाने-दाने के लिए मोहताज है। ऐसे में अगर पाकिस्तान ब्लैकलिस्ट हो जाता तो स्थिति और भी ख़राब हो जाती लेकिन फिलहाल पाकिस्तान के लिए राहत की बात यह है की अभी कुछ समय के लिए पाकिस्तान को अपनी गलती सुधारने का मौका दिया गया है।

-Mradul tripathi

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.