इमरान को तख़्त से हटाने लाखों आवाम सड़क पर

0

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Pakistan PM Imran Khan) जब से प्रधानमंत्री बने है लगता है उनकी बदकिस्मती का दौर शुरू हो गया है। दुनिया के लगभग सभी देश पाकिस्तान के विपक्ष में हमेशा रहते है। अब ऐसी हालत में जब इमरान खान को अपने देश के लोगो से समर्थन की आशा है। तब पाकिस्तानी आवाम भी उनके खिलाफ भड़क उठी है और उन्हें सत्ता से बाहर करने के लिए लगातार बगावत पर उतर आई है अब हालत ये है की उन्हें अपने ही देश में कड़ी सुरक्षा की जरूरत पड़ रही है। अब ऐसे में हमेशा तख्तापलट करने वाली पाकिस्तानी सेना (Pakistani Army) इस बार इमरान खान की कवच बन गई है।

महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर बीजेपी का बड़ा ऐलान

इसी के साथ ही कश्मीर मुद्दे पर दुनियाभर से अलग-थलग पड़े पाकिस्तान(Pakistan) की वर्तमान हालात बहुत ही जर्जर है। और वह भारी आर्थिक संकट (Economic recession) से भी गुजर रहा पाकिस्तान की जनता के पास अनाज खरीदने तक के पैसे नहीं है। इन सब आफत के बीच पकिस्तान ने एक और शर्मनाक रिकॉर्ड कायम किया है। जानकारी के अनुसार इमरान सरकार ने अपने एक साल के कार्यकाल में रिकार्ड कर्जा लिया है (Imran Khan’s Govt Borrows Rs 7.5 Lakh Crore). आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार सरकार के एक साल के कार्यकाल में देश के कुल कर्ज में 7509 अरब (पाकिस्तानी) रुपये की वृद्धि हुई है. एक रिपोर्ट के अनुसार कर्ज के यह आंकड़े स्टेट बैंक आफ पाकिस्तान ने प्रधानमंत्री कार्यालय को भिजवा दिए हैं.

JDU के राष्ट्रीय अध्यक्ष का ऐलान

पाकिस्तान (Pakistan) पर सबसे ज्यादा कर्ज चीन का बढ़ रहा है (Imran Khan’s Govt Borrows Rs 7.5 Lakh Crore). दिनों दिन डॉलर के मुकाबले कमजोर होते पाकिस्‍तानी रुपये का ही नतीजा है कि मार्च में पाकिस्‍तान में महंगाई दर पिछले पांच साल के शीर्ष स्‍तर 9.41 फीसदी पर पहुंच गई थी. अप्रैल में यह 8.8 फीसदी दर्ज की गई. पाकिस्तानी रुपया अमेरिकी डॉलर के मुकाबले अब तक के निचले स्तर पर आ गया है. एक अमेरिकी डॉलर के मुकाबले पाकिस्तानी रुपया 152 के स्तर पर पहुंच गया है.

कमलनाथ सरकार खरीदेगी 60 करोड़ का नया हेलिकॉप्टर

-Mradul tripathi

Share.