नवाज-मरियम : गिरफ्तारी के लिए 10 हजार जवान तैनात

0

आय से अधिक संपत्ति और भ्रष्टाचार जैसे आरोपों में दोषी पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ और उनकी बेटी मरियम नवाज़ की गिरफ्तारी के लिए लाहौर को पुलिस की छावनी बना दिया है| दरअसल, दोनों की गिरफ्तारी के लिए पाकिस्तानी सेना और पुलिस ने कड़े इंतजाम किए हैं| कोई गड़बड़ी या दंगे जैसे हालातों से बचने के लिए एयरपोर्ट को खाली करवाकर सभी उड़ानों को इस्लामाबाद डायवर्ट कर दिया गया है|

नवाज शरीफ और मरियम को अबू धाबी से लंदन होते हुए पाकिस्तान के लाहौर लाया जाएगा| वे शुक्रवार शाम तक लाहौर पहुंचेंगे, जहां 10 हजार जवान तैनात किए गए हैं| वहीं नवाज़ शरीफ के भाई शाहबाज़ शरीफ का कार्यकर्ताओं को वीडियो संदेश जारी करके कहा कि जुमे की नमाज के बाद लाहौर एयरपोर्ट के लिए निकलें|

लाहौर एयरपोर्ट से गिरफ्तारी के बाद नवाज़ शरीफ और मरियम को दो हेलीकॉप्टर से रावलपिंडी की जेल तक पहुंचाया जाएगा| पाकिस्तान की भ्रष्टाचार विरोधी अदालत ने नवाज़ शरीफ को दस साल तथा उनकी बेटी मरियम को सात साल के कारावास की सज़ा सुनाई है| पुलिस अधिकारियों ने बताया कि लंदन एयरपोर्ट से पहले नवाज़ ने कहा था कि उनकी आंखों के सामने जेल की सलाखें दिख रही हैं|

वहीं नवाज़ शरीफ की पार्टी के कार्यकर्ता उनके स्वागत की तैयारियों में जुटे थे| ऐसे ही प्रदर्शन के लिए एयरपोर्ट जा रहे सैकड़ों कार्यकर्ताओं को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है| पाकिस्तान लौटने से पहले नवाज़ शरीफ ने अपनी पार्टी के नेताओं और परिजन से मुलाकात की|

पाकिस्तानी टीवी रेग्युलेटरी बॉडी ने समाचार चैनलों से नेताओं के भड़काऊ बयान नहीं दिखाने के लिए कहा है| गौरतलब है कि लंदन में शुक्रवार को नवाज़ शरीफ के घर के बाहर प्रदर्शन कर रहे लोगों से नवाज़ शरीफ के पोते ज़कारिया हुसैन और मरियम नवाज़ के बेटे जुनैद सफ़दर भिड़ गए थे| इसके बाद मरियम नवाज़ के बेटे और हुसैन नवाज (नवाज शरीफ के बेटे) के बेटे को लंदन पुलिस ने गिरफ्तार किया है|

Share.