website counter widget

पाकिस्तान को बड़ा झटका, डार्क ग्रे लिस्ट में होगा शामिल

0

पेरिस: भारी मंदी कि मार झेल रहे पाकिस्तान की मुसीबतें कम होने का नाम ही नहीं ले रही है। पहले कश्मीर मुद्दे पर पर उसे अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर समर्थन नहीं मिला। उसके बाद अब वहा की जनता ख़राब अर्थव्यवस्था के कारण दाने दाने के लिए मोहताज है। इन दिनों टेरर फंडिंग (Terror Funding) और मनी लॉन्ड्रिंग (Money Laundering) पर नजर रखने वाली फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (FATF) की एक अहम बैठक फ्रांस की राजधानी पेरिस(Peris) में हो रही है.पाकिस्तान पहले से ही ग्रे लिस्ट में है. और उसपर ब्लैकलिस्ट (Pakistan In The Dark Grey List) होने का खतरा मंडरा रहा है.

मुर्शिदाबाद हत्याकांड में बड़ा खुलासा

अभी तक उसे यह उम्मीद थी की उसके दोस्त तुर्की मलेशिया और चीन उसके समर्थन में आएंगे जिससे वह ब्लैकलिस्टेड होने से बच जाएगा लेकिन उसकी इस आशा पर भी पानी फिर गया सोमवार को एक्शन टास्क फोर्स (FATF) की रिव्यू मीटिंग में पाकिस्तान को किसी भी देश का साथ नहीं मिला. यहां तक कि पाकिस्तान के ख़ास चीन, मलेशिया और तुर्की भी उसके साथ नहीं आए. पाकिस्तान पहले से ही ग्रे लिस्ट में है. ऐसे में अब उसे डार्क ग्रे लिस्ट (Pakistan In The Dark Grey List) में डाला जा सकता है. FATF का फैसला 18 अक्टूबर को आना है. चीन के जियांगमिन ल्यू की अध्यक्षता में FATF ये का यह पहला अधिवेशन है.

BJP जिला अध्यक्ष पर ताबड़तोड़ फायरिंग!

पाकिस्तान की वर्तमान स्थिति को देखते हुए ये माना जा रहा है. कि अंतिम फैसले में भी FATF के सभी देश पाकिस्तान का साथ नहीं देंगे, क्योंकि वह आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई में बहुत अच्छा नहीं कर रहा है. यही वजह है कि पाकिस्तान को ‘डार्क ग्रे लिस्ट’ में डाला जा सकता है.
ग्रे लिस्ट और ब्लैकलिस्ट के मध्य डार्क ग्रे लिस्ट एक अंतिम चेतावनी होती है जिसमे सम्बंधित देश को एक अंतिम मौका मिले।
FATF के नियम के अनुसार , किसी देश को ब्लैकलिस्ट होने से बचने के लिए अपने पक्ष में कम से कम तीन वोट चाहिए. अब यदि पाकिस्तान के करीबी चीन, मलेशिया और तुर्की ये कह दें कि पाकिस्तान ग्रे से ब्लैक कैटेगरी में डाउनग्रेड नहीं किया जाएगा। लेकिन FATF की रिव्यू मीटिंग में पाकिस्तान को इनमे से किसी देश का साथ नहीं मिला जिससे उसे भारी झटका लगा है।

BJP की राजनीतिक पिच पर शतक लगाएंगे गांगुली!

-Mradul tripathi

 

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.