पाकिस्तान बन सकता है तीसरी एटमी ताकत

0

पाकिस्तान जल्द ही विश्व का तीसरा सबसे बड़ा परमाणु हथियार रखने वाला देश बन सकता है। अमरीकी विशेषज्ञ ने दावा किया है कि पाकिस्तान अपने परमाणु हथियार की तरफ तेजी से बढ़ रहा है। इतिहासकार, मिलिट्री और वॉर के बारे में कई किताबें लिख चुके और विशेषज्ञ जॉसेफ वी.मैकलेफ ने www.military.com पर लिखे आर्टिकल में दावा किया है कि पाकिस्तान जल्द ही परमाणु हथियारों के भंडार के मामले में दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा मुल्क बन जाएगा, जो आने वाले समय में पूरे साउथ एशिया के लिए खतरा बनेगा।

चीन कर रहा है मदद

मिकलेफ ने अपने लेख में लिखा है कि पाकिस्तान का तालिबान, तहरीक ए जिहार इस्लामी, जैश-ए-मोहम्मद, लश्कर-ए-तैयबा जैसा आतंकी संगठनों से संबंध है। मिकलेफ ने चिंता जताते हुए कहा कि मिसाइल बनाने के लिए चीन पाकिस्तान की मदद कर रहा है। उन्होंने लिखा कि पाकिस्तान के पास इस समय 140 से 150 एटमी हथियार मौजूद हैं।

गुपचुप तरीके से एटमी हथियार बना रहा है पाक

मिकलेफ ने इस बात पर भी चिंता जताई है कि पाकिस्तान बीते 48 सालों से लगातार गुपचुप तरीके से एटमी हथियार बना रहा है। लेखक का कहना है कि पाकिस्तान और दुनिया के दूसरे हिस्सों में इन हथियारों का गलत इस्तेमाल किया जा सकता है। एक रिपोर्ट के मुताबिक, एटमी हथियारों के मामले में रूस सबसे आगे है| उसके पास तकरीबन 6800 न्यूक्लियर बम हैं। इसके बाद अमरीका का नंबर आता है और उसके पास 6600 बम हैं। तीसरे नंबर पर फ्रांस आता है, उसके पास 300 न्यूक्लियर बम हैं।

Share.