आतंकवाद पर एक बार फिर घिरा पाकिस्तान

0

आतंकवाद को पनाह देने वाला पाकिस्तान अक्सर वैश्विक स्तर पर आतंकवाद के मुद्दे को लेकर संदिग्ध पाया जाता है| कई विदेशी संस्थानों ने पाक को आतंकवाद को लेकर फटकार भी लगाई है, लेकिन पाकिस्तान अभी भी आतंकवादियों पर मेहरबान है|

हाल ही में फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (एफएटीएफ) ने  इंटरनेशनल कोऑपरेशन रिव्यू ग्रुप मॉनिटरिंग के लिए पाकिस्तान को ‘ग्रे लिस्ट’ में शामिल किया है| आतंक की फंडिंग रोक पाने में विफल रहने की वजह से एफएटीएफ ने पाक को ‘ग्रे लिस्ट’ यानी संदिग्धों की सूची में डाल दिया है| विदेश मंत्रालय ने बयान जारी कर आतंकवाद को सह देने के लिए पाक को घेरा भी है|

भारत के विदेश मंत्रालय ने शनिवार को कहा कि पाकिस्तान ने आतंकवाद की फंडिंग रोकने और एंटी मनी लॉन्ड्रिंग अभियान चलाने के लिए एफएटीएफ के स्टैंडर्ड का पालन करने का आश्वासन दिया था| पाकिस्तान को खासकर संयुक्त राष्ट्र की सूची में शामिल और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रतिबंधित आतंकी संगठनों और आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई करनी थी|

विदेश मंत्रालय ने कहा कि पाकिस्तान में हाफिज़ सईद जैसे अंतरराष्ट्रीय आतंकी और जमात-उद-दावा, लश्कर-ए-तैयबा, जैश-ए-मोहम्मद जैसे संगठन पाकिस्तान में अभी भी सक्रिय हैं| अब आतंकवाद के मुद्दे पर पाकिस्तान एक बार फिर निशाने पर है|

Share.