website counter widget

नेपाल की राजधानी काठमांडू में 3 धमाके, कई मरे

0

विश्व स्तर पर बम धमाकों की ख़बरें लगातार सामने आ रही हैं| पहले श्रीलंका की राजधानी कोलंबो सहित अन्य जगहों पर ईस्टर सन्डे के दिन आठ बम धमाके (Sri Lanka Blasts) कि‍ए गए थे, जिनमें 290 लोगों की मौत हो गई थी और 500 से ज्‍यादा लोग घायल हुए थे | इसके बाद पूर्व पाकिस्तान (Pakistan) की लाहौर स्थित सूफी दरगाह के बाहर बड़ा बम धमाका (Lahore Blast Near Sufi Shrine ) हुआ था, जिसमें 8 लोग मारे गए थे। इसके बाद पाकिस्तान से ही एक अन्य और अफगानिस्तान में बम धमाकों की ख़बरें सामने आईं थीं | अब एक और देश से ऐसे मामले की खबर (Kathmandu Blast) सामने आ रही है |

इस लोकसभा में पहुंचे सबसे ज्यादा दागी नेता, जानिये संख्या

दरअसल, भारत के पड़ोसी देश नेपाल की राजधानी काठमांडू में रविवार को 3 धमाके हुए हैं, जिनमें 4 लोगों की मौत हुई है जबकि सात अन्‍य घायल हुए हैं| अब तक प्राप्त जानकारी के अनुसार, पहला ब्‍लास्‍ट काठमांडू शहर के बीचोंबीच के इलाके में हुआ| घातेकुलो रिहायशी इलाके में स्थित एक घर पर हुए विस्‍फोट में एक व्‍यक्ति की जान गई|

स्‍थानीय लोगों के अनुसार धमाका इतना तेज़ था कि इससे मकान की दीवारें तक क्षतिग्रस्‍त हो गईं| इसके बाद दूसरा धमाका काठमांडू शहर के बाहरी इलाके सुकेधारा में और तीसरा धमाका थानकोट क्षेत्र में हुआ|

Video : जानिये कैसे मुस्लिमों ने रचा 2019 चुनावों का इतिहास

इन 3 धमाकों (Kathmandu Blast) में तीन लोगों की घटनास्‍थल पर ही मौत हो गई जबकि एक व्‍यक्ति की मौत अस्‍पताल में इलाज के दौरान हुई| पुलिस अधिकारी श्‍यामलाल ग्‍यावली के अनुसार, पहले धमाके वाले स्‍थान से माओवादी संगठनों से जुड़े कुछ पर्चे बरामद हुए हैं|

उनका कहना है कि आशंका है कि इन धमाकों के पीछे उन माओवादी संगठनों का हाथ हो, जो सरकार के विरोध में हैं| पुलिस अधिकारी का कहना है कि इस मकान को माओवादी संगठन बम बनाने में इस्‍तेमाल करता था| एक घायल व्‍यक्ति भी उनका समर्थक है|

मेनका ने राहुल से कहा, गाड़ी में बैठ हाथ हिलाने से ………

अ‍भी तक इन धमाकों के पीछे का कारण स्‍पष्‍ट नहीं हो पाया है| इस पर नेपाल पुलिस का कहना है कि ऐसी आशंका है कि इन धमाकों (Kathmandu Blast) के पीछे माओवादी संगठनों का हाथ है| पुलिस का यह भी कहना है कि इन धमाकों के पीछे के कारण जानने के लिए भी जांच जारी है|

बता दें कि पिछले महीने ईस्टर के मौके पर श्रीलंका में नौ आत्मघाती बम धमाके हुए थे| आत्‍मघाती हमलावरों ने देश को हिलाकर रख दिया था| श्रीलंकाई पुलिस ने धमाकों के मामले में स्थानीय इस्लामिक समूह नेशनल तौहीद जमात (एनटीजे) और उसके एक सरगना जाहरान कासिम से कथित रूप से जुड़े पांच संदिग्धों को गिरफ्तार किया था|

Summary
Review Date
Author Rating
51star1star1star1star1star
ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.