छिनने के डर से नासा पर किया केस

0

आपने कई फिल्मों में देखा होगा कि प्रेमी अपनी प्रेमिका से कहता है कि मैं तुम्हें चांद लाकर दे दूंगा| यह बात हकीकत में सच हुई है| इस घटना में एक व्यक्ति ने अपने प्रियजन को पूरा चांद तो नहीं परंतु उसका एक टुकड़ा जरूर उपहार में दिया था| अब इस उपहार को लेकर विवाद छिड़ गया है| 

यह व्यक्ति कोई और नहीं बल्कि चांद पर पहला कदम रखने वाले नील  आर्मस्ट्रांग हैं और यह उपहार पाने वाली खुशकिस्मत अमरीका की लौरा सिको है। उपहार उनसे छिन न जाए इस डर से उन्होंने नासा पर केस कर दिया है|

दरअसल 1970 में सिको जब महज 10 साल की थीं, तब उन्हें पहले अंतरिक्ष यात्री नील आर्मस्ट्रांग ने अपने हाथों से लिखे एक लेटर के साथ एक छोटी बॉटल में चांद की धूल गिफ्ट की थी। नील, सिको के पिता के दोस्त थे। वर्षों बाद उन्हें अपने सामान से वह बॉटल वापस मिली है, लेकिन अब सिको उस पर अपना हक जताना चाहती है| वे नहीं चाहती कि नासा उनसे वह बॉटल वापस ले।

नासा के खिलाफ केस

सिको ने अब फेडरल कोर्ट में नासा पर मुकदमा दायर किया है। उन्होंने अपनी याचिका में लिखा है कि उसने यह मुकदमा एजेंसी के इतिहास को देखते हुए दर्ज किया है क्योंकि नासा अंतरिक्ष से जुड़ी किसी भी चीज को जब्त कर लेती है।

नासा ने नहीं दिया जवाब

अभी तक नासा की ओर से कोई बयान नहीं आया है। हालांकि सिको के पास जो चांद की धूल की बॉटल है, उसका दो बार टेस्ट हो चुका है। वैज्ञानिकों ने भी इसके चांद का हिस्सा होने की पुष्टि कर दी है।

Share.