मैकडोनाल्ड CEO को महंगा पड़ा, नाजायज़ संबंध

0

McDonald’s CEO Firedन्यूयॉर्क: मैकडोनाल्ड (McDonald’s) ने अपने CEO स्टीव ईस्टरब्रुक को कंपनी से निष्कासित कर दिया है। रविवार को कंपनी ने यह जानकारी दी कि उन्होंने स्टीव ईस्टरब्रुक को कंपनी के नियमों का उल्लंघन करते पाया इसलिए उन्हें सीईओ और कंपनी के अध्यक्ष पद से निकाल दिया गया है (McDonald’s CEO Fired)। ईस्टरब्रुक का कंपनी के एक कर्मचारी के साथ संबंध था, जिसके चलते कंपनी ने उन्हें निकालने का फैसला लिया। स्टीव ईस्टरब्रुक साल 2015 में कंपनी के सीईओ बने थे। इसके साथ ही उन्हें निदेशक मंडल में भी चुना गया था। कंपनी के नियमों के मुताबिक, प्रबंधकों को प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष अधीनस्थों के साथ संबंध रखने की अनुमति नहीं है। ईस्टरब्रुक का कार्यकाल 1 मार्च 2015 से शुरू हुआ था।

ईरान, अमेरिका को देगा मुहतोड़ जवाब

जानकारी के अनुसार ईस्टरब्रुक (McDonald’s CEO Fired) ने कर्मचारियों को ईमेल किया जिसमें उन्होंने स्वीकार किया कि उनके एक कर्मचारी के साथ संबंध थे और यह एक गलती थी। ईस्टरब्रुक ने ईमेल में लिखा , ‘कंपनी के मूल्यों को देखते हुए मैं बोर्ड की इस बात से सहमत हूं कि अब मेरा यहां से जाने का वक्त आ गया है।’ मैक्डोनॉल्ड के निदेशक मंडल ने पूरी तरह से समीक्षा करने के बाद शुक्रवार को ईस्टरब्रुक के निष्कासन के पक्ष में मतदान किया।

दिल्ली कोर्ट में फिर वकीलों और पुलिस के बीच हाथापाई

मैकडोनाल्ड CEO ईस्टरब्रुक के जिस कर्मचारी के साथ संबंध कम्पनी ने उस कर्मचारी के बारे में कोई भी जानकारी देने से मना किया है। वहीं, ईस्टरब्रुक के एक वकील ने भी सवालों के जवाब देने से इनकार कर दिया। वर्तमान निदेशक मंडल ने क्रिस केम्पजिंस्की को कंपनी का नया अध्यक्ष और सीईओ बनाने के लिए नाम आगे किया है (McDonald’s CEO Fired)। वह मैक्डोनाल्ड की अमेरिका चेन के अध्यक्ष थे। मैक्डोनाल्ड बोर्ड के अध्यक्ष एनरिक हर्नांडेज़ ने एक बयान में कहा कि केम्पजिंस्की 2015 में मैक्डोनाल्ड में शामिल हुए थे। अमेरिका में लगभग 14,000 मैकडोनाल्ड रेस्तरां खोलने का श्रेय उनको जाता है।

50 अंडे खाने की शर्त ने ली जान

-Mradul tripathi

Share.