उत्तर कोरिया के आम चुनाव में किम जोंग को मिले इतने वोट

0

पिछले एक साल में कई देशों में आम चुनाव हुए हैं | जहां पिछले साल पाकिस्तान में इमरान खान चुनाव जीते थे तो भारत में नरेन्द्र मोदी ने दूसरी बार ऐतिहासिक जीत हासिल कर अपनी सरकार बनाई | अब उत्तर कोरिया (North Korea General Election 2019) में भी आम चुनाव हुए, जिसके परिणाम हाल ही में सामने आए, जिसने हर किसी को चौंका दिया |

ट्रंप ने भारत और पाकिस्तान के बीच मध्यस्थता करने की इच्छा जताई

दरअसल, उत्तर कोरिया (North Korea General Election 2019) में रविवार को हुए स्थानीय चुनावों में करीब 100 फीसदी वोटिंग (Kim Jong get so many votes) देखने को मिली| 2015 के मुकाबले इस बार आम चुनाव में हुई वोटिंग में 0.01 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है| पिछली बार 99.97 फीसदी मतदान हुआ था, जबकि इस बार 99.98 प्रतिशत वोटिंग हुई| उत्तर कोरिया की सरकारी एजेंसी केसीएन के मुताबिक, जो लोग विदेशी दौरे पर हैं या फिर दूसरे देश में काम करते हैं वो वोट नहीं डाल पाए|

उत्तर कोरिया के आम चुनाव के परिणामों में देश के नेता किम जोंग उन के उम्मीदवारों को 99.98 प्रतिशत मत पड़े| हालांकि पर्यवेक्षकों का कहना है कि उत्तर कोरिया में चुनाव होना एक औपचारिकता है क्योंकि यहां चुनाव में किम जोंग (Kim Jong get so many votes) की पार्टी के अलावा कोई और चुनाव में हिस्सा नहीं लेती है | उनके अनुसार, इस तरह के चुनाव में प्राधिकारी यह दावा करेंगे कि किम जोंग उन को भारी बहुमत मिला और उनके प्रति लोग वफादार हैं |

भारत ने कहा, हमने कभी कश्मीर मुद्दे पर ट्रंप की मदद नहीं मांगी

रिपोर्ट्स में कहा गया है कि इस चुनाव में बीमार लोग और बुजर्गों ने भी मोबाइल बैलेट बॉक्स के जरिये वोट डाला| इसमें प्रांत, शहर और विधानसभाओं के लिए प्रतिनिधि चुने जाते हैं|‘एक राजनीतिक पार्टी’  का वर्चस्व रखने वाले उत्तर कोरिया में 99 फीसदी मतदाताओं ने वोट किया और 99 फीसदी निर्विरोध खड़े उम्मीदवारों को वोट डाला| इसमें किम जोंग उन (North Korea General Election 2019) ने भी अपना वोट किया |

एजेंसी KCNA के मुताबिक, किम जोंग (Kim Jong get so many votes) ने अपने प्रत्याशियों को अपने कर्तव्यों का पालन करने और जनता के प्रति वफादार रहने के लिए प्रेरित किया| किम ने खुद 2014 में सुप्रीम पीपुल्स एसेंबली के लिए चुनाव लड़ा था और उनके पक्ष में 100% वोट पड़े थे|

गौरतलब है कि उत्तर कोरिया में प्रत्येक चार साल में प्रांतीय, शहरी और काउंटी असेम्बलियों के प्रतिनिधियों के निर्वाचन के लिए मतदान होता है|

कर्नाटक: शाम 6 बजे विश्वास मत पर वोटिंग

Share.