website counter widget

खालिस्‍तान समर्थक गोपालसिंह चावला को पाकिस्तान ने हटाया

0

आखिरकार भारत के बढ़ते दबाव के कारण पाकिस्तान को झुकना ही पड़ा| नवंबर 2018 में पाकिस्‍तान में करतारपुर कॉरिडोर के शिलान्‍यास समारोह के दौरान पाकिस्‍तान के सेना प्रमुख कमर जावेद बाजवा के साथ पाकिस्‍तान सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (PSGPC) के प्रमुख   गोपाल चावला (Pakistan Removes Khalistan Supporter Gopal Singh Chawla) हाथ मिलाते दिखाई दिए थे | गोपाल चावला के खालिस्तानी समर्थक होने के कारण भारत ने उसके इस पद पर नियुक्त होने पर आपत्ति जताई थी | अब इस्लामाबाद ने बड़ा कदम उठाते हुए पाकिस्‍तान सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (PSGPC) से खालिस्‍तान समर्थक गोपालसिंह चावला को हटा दिया है।

पाकिस्तान के कैबिनेट मंत्री फवाद हुसैन का अनर्गल बयान

गौरतलब है कि करतारपुर पर एक बार फिर भारत और पाकिस्‍तान के बीच वार्ता होने जा रही है, जिससे ठीक पहले उसने चावला (Pakistan Removes Khalistan Supporter Gopal Singh Chawla) को PSGPC से हटा दिया है। चावला उस कमेटी का हिस्‍सा था, जिसकी करतारपुर कॉरिडोर के संचालन में अहम भूमिका है। कमेटी से भारत-विरोधी और खालिस्‍तान समर्थक माने जाने वाले मनिंदर सिंह, तारा सिंह, बिसन सिंह और कुलजीत सिंह को भी हटा दिया गया है।

बताया जा रहा है कि एक नई कमेटी का गठन किया जाएगा, जिसमें कोई भी खालिस्‍तान समर्थक शामिल नहीं होगा। करतारपुर कॉरिडोर पर आगे बढ़ने से पहले भारत कई मौकों पर पाकिस्‍तान के समक्ष खालिस्‍तानी चरमपंथियों और उसके समर्थकों की वहां मौजूदगी को लेकर अपनी चिंता जता चुका है। ऐसे में माना जा रहा है कि पाकिस्‍तान ने यह कदम भारतीय दबाव के कारण उठाया है।

Dog Transfer In MP : एमपी अजब है ! कमलनाथ सरकार में अब कुत्तों के तबादले

यह है गोपाल सिंह चावला (Pakistan Removes Khalistan Supporter Gopal Singh Chawla)

गोपाल सिंह चावला पाकिस्तान सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी का महासचिव रह चुका है, जिसके तार 26/11 मुंबई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद से भी जुड़े रहने की बातें सामने आई हैं। उसे कई मंचों पर हाफिज के साथ देखा गया है। इतना ही नहीं वह भारत के खिलाफ बयानबाजियां भी करता है। 2017 में उसने भारत के पंजाब में खालिस्‍तानी चरमपंथ को फिर से जिंदा करने की बात कही थी। चावला का नाम नवंबर 2018 में पाकिस्‍तान के गुरुद्वारा ननकाना साहब और गुरुद्वारा सच्चा सौदा में भारतीय उच्चायोग के अधिकारियों के साथ बदसलूकी के मामले में भी सामने आ चुका है।

खुफिया रिपोर्ट्स इस तरफ भी इशारा करती हैं कि गोपाल चावला को पाकिस्‍तानी खुफिया एजेंसी इंटर सर्विसेज इंटेलीजेंस (ISI) का भी साथ मिल रहा है और वह पाकिस्‍तान स्थित आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा से मिलकर पंजाब में फिर से हिंसा व आतंक फैलाने की साजिश कर रहा है।

VIDEO : संसद में चला सफाई अभियान, झाड़ू थामे सांसदों का यूं उड़ा मज़ाक

करतारपुर कॉरिडोर के शिलान्‍यास समारोह के दौरान नवजोत सिंह सिद्धू के साथ भी उसकी तस्‍वीर सामने आई थी, जो पंजाब सरकार के मंत्री की हैसियत से इस कार्यक्रम में शामिल हुए थे। सिद्धू के साथ आई चावला की तस्‍वीर को लेकर भारतीय राजनीति में खूब हंगामा मचा था, जिस पर सफाई देते हुए कांग्रेस नेता ने कहा था कि पाकिस्‍तान दौरे के दौरान उनकी कई तस्‍वीरें ली गईं और उन्‍हें नहीं पता कि गोपाल सिंह चावला कौन है।

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.