Tokyo 2020 Olympics : कम उम्र की वजह से छूटा ओलंपिक्स

0

लगातार 6 नेशनल  टाइटल जीतने वाली माहिरो टकानो अब ओलंपिक्स खेलना चाहती हैं।  माहिरो कोई दिग्गज खिलाड़ी नहीं बल्कि जापान की मात्र 13 साल की कराते चैंपियन है, (Karate Kid Mahiro Takano desires for Olympics) lलेकिन इनकी उम्र से इनके अनुभव को कम आंकना भूल ही होगी। मात्र 13 वर्ष की उम्र में भी माहिरो दोगुनी उम्र के लोगों को हरा सकती हैं। इनकी एक खवाइश है, जो बस इनकी कम उम्र के कारण पूरी नहीं हो रहीं।

Amarnath Yatra 2019 : कश्मीर में बाहरी खतरा या भीतरी चुनौती ?

दरअसल, माहिरो की इच्छा है कि वह अगले साल टोक्यो में होने वाले ओलिंपिक में खेलें। इस ख्वाइश में बहुत मेहनत की, लेकिन ओलिंपिक समिति ने कम उम्र का हवाला देकर उन्हें सबसे बड़े इवेंट में हिस्सा लेने से मना कर दिया। माहिरो ने स्कूल के शुरुआती दौर से ही मार्शल आर्ट खेलना शुरू कर दिया। उनका सपना है की वह (Karate Kid Mahiro Takano desires for Olympics) ओलिम्पिक में स्वर्ण पदक जीतें, लेकिन उसका यह सपना इस बार पूरा होते इसलिए नहीं दिखेगा क्योंकि उनकी कम उम्र की वजह से हिस्सा लेने नहीं मिला। माहिरो एक जापानी नागरिक हैं और वो जापान के नगाओका शहर में रहती हैं। वो अब तक एलीमेंट्री लेवेल पर 6 पदक जीत चुकीं हैं। 

वीर शहीद अब्दुल हमीद की पत्नी रसूलन बीबी का निधन

जूडो और केंदों के बाद कराते (Mahiro Takano) :

यूं तो जापान में जूडो और केंदो प्रमुख खेलो में से हैं। जूडो आम है, लेकिन केंदों वह का स्थानीय मार्शल आर्ट स्टाइल है। केंदों में खिलाड़ी मास्क पहनते हैं और फिर जापानी वेश-भूषा में (Karate Kid Mahiro Takano desires for Olympics) तलवारबाज़ी करते हैं । इन दो प्रमुख खेल लोकप्रिय होने के बावजूद अब माहिरो कराते का जाना-माना नाम बन चुकी हैं। माहिरो बोहोत कम उम्र से ही कई विज्ञापनों में कराते एम्बेसडर भी बन चुकी हैं।

Unnao Rape Case : छात्रा के सवाल ने की पुलिस अधिकारी की बोलती बंद

 

Share.