सबसे ज्यादा उम्र में नोबेल पुरस्कार जीतने वाले पहले वैज्ञानिक

0

आजकल अधिकतम व्यक्ति लैपटॉप एवं अपने मोबाइल में इस खबर को देख रहे होंगे। तो आपको उन वैज्ञानिकों का आभारी होना चाहिए जिनकी बनाई बैटरी के कारण ये डिवाइस चलते है। कल बुधवार को रसायन विज्ञान (Chemnistry) के क्षेत्र में काम करने वाले तीन वैज्ञानिकों को नोबेल पुरस्कार(Noble Prize) देने कि घोषणा कि गई . इसमें जॉन गुडइनफ (John Goodenough) के साथ ब्रिटिश अमेरिकी वैज्ञानिक एम स्टेनली विटिंगम और जापान के वैज्ञानिक अकिरा योशिना के नाम शामिल हैं. इन तीनों को लिथियम आयन बैटरी की खोज के लिए इस साल का नोबेल प्राइज दिया जा रहा है. लिथियम आयन बैटरी का प्रयोग मोबाइल और लैपटॉप आदि में किया जाता है। सबसे मुख्य बात तो यह है कि यह पुरस्कार पाने वालों में 97 साल के जॉन गुडइनफ भी शामिल है। यह पहली बार है जब इस उम्र के किसी वैज्ञानिक को नोबेल पुरस्कार मिला हो।

97 साल के जॉन गुडइनफ सबसे ज्यादा उम्र में नोबेल प्राइज पाने वाले वैज्ञानिक बन गए हैं. इसके पहले नोबेल प्राइज पाने वाले सबसे उम्रदराज वैज्ञानिक ऑर्थर अस्किन थे. ऑर्थर अस्किन को 96 साल की उम्र में नोबेल प्राइज मिला था. ऑर्थर अस्किन को पिछले साल फिजिक्स के क्षेत्र में नोबेल प्राइज मिला था. उनके रिकॉर्ड को अब जॉन गुडइनफ ने तोड़ा है.

रसायन विज्ञान के क्षेत्र में इस बार यह सम्मान संयुक्त रूप से 3 वैज्ञानिकों को दिया जा रहा है। 97 साल के जॉन बी. गुडइनफ इस वर्ष के नोबेल पुरस्कार विजेता हैं। जर्मनी में पैदा हुए अमेरिकन इंजिनियर गुडइनफ यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्सस में प्रफेसर के पद पर कार्यरत हैं। 77 साल के एम. स्टेनली विटिंगम ब्रिटिश-अमेरिकन वैज्ञानिक हैं। स्टेनली फिलहाल न्यू यॉर्क के स्टेट यूनिवर्सिटी में रसायन विज्ञान के प्रफेसर हैं। तीसरे वैज्ञानिक अकिरा योशिना 71 साल के हैं और वह केमिकल कंपनी अशाई कासाई कॉर्प और मेइजो यूनिवर्सिटी से जापान में जुड़े हुए हैं।

 

-Mradul tripathi

Share.