ईरान, अमेरिका को देगा मुहतोड़ जवाब

0

पिछले कुछ समय से सऊदी अरब और ईरान के बीच रिश्ते कुछ ठीक है और अमेरिका भी अक्सर सऊदी अरब का समर्थन करते हुए नजर आता है। पिछले कुछ दिनों पहले सऊदी अरब के जेद्दा बंदरगाह के पास ईरानी तेल टैंकर मिसाइल हमला हुआ है जिसका दोषी ईरान सऊदी को मानता है (Iran Threatens To Target US)। इस घटना के बाद दोनों देशों के बीच तनाव की स्थिति बनी हुई है. इस घटना पर अमेरिका तरफ से कोई प्रतिक्रिया आने पर ईरान ने कहा है की यदि अब उसपर कोई हमला हुआ तो वह अमेरिका के सहयोगी देशों को खत्म कर देगा इस बयान को अमेरिका के लिए भी चेतावनी माना जा रहा है।

मैकडोनाल्ड CEO को महंगा पड़ा, नाजायज़ संबंध

जानकारी के अनुसार ईरान के सशस्त्र बलों के प्रवक्ता ने कहा कि ईरानी सेनाएं न सिर्फ़ अमेरिका, बल्कि उसके सहयोगियों को भी ईरान के खिलाफ़ आक्रामकता के मामले में निशाना बनाएंगी (Iran Threatens To Target US)। ‘किसी भी जगह और किसी भी क्षेत्रीय बिंदु पर संयुक्त राज्य अमेरिका और उसके सहयोगियों के हितों को आश्रय देने की धमकी दी जाएगी जैसा कि ईरान ने साबित कर दिया है कि वह ऐसा करने में सक्षम है,’

50 अंडे खाने की शर्त ने ली जान

सशस्त्र बलों के प्रवक्ता ने बताया कि अगर कोई देश सीधे तौर पर संभावित युद्ध में शामिल नहीं होता है, तो भी उसका इलाका दुश्मन द्वारा इस्तेमाल किया जाता है, हम उस देश को ‘शत्रुतापूर्ण’ इलाका मानते हैं और उसे आक्रमणकारी की तरह मानते हैं। ’22 अक्टूबर को, ईरानी सशस्त्र बल के चीफ ऑफ स्टाफ मोहम्मद बकेरी ने कहा कि ईरान की सैन्य क्षमताएं निवारक उद्देश्यों के लिए हैं, हालांकि, ‘दुश्मनों को देश के खिलाफ आक्रामकता के किसी भी कार्य को अंजाम देने पर भारी कीमत चुकानी पड़ेगी’।

 

दिल्ली कोर्ट में फिर वकीलों और पुलिस के बीच हाथापाई

-Mradul tripathi

Share.