ईरान ने किया जंग का ऐलान दागी एक दर्जन से ज्यादा मिसाइलें

0

बगदाद: अमेरिकी हमले में ईरानी जनरल कासिम सुलेमानी (Iranian General Qasim Sulemani) के मौत के बाद ईरान ने कहा था हम इसका जवाब देंगे और शायद ईरान ने इसकी शुरुआत कर दी है हाल ही  में अमेरिका के एयरबेस (US Al Asad Airbase) पर ईरान द्वारा मिसाइलों से हमला किए जाने की खबर सामने आई है। पेंटागन के अनुसार उसके एयरबेस पर एक दर्जन से ज्यादा मिसाइलें दागी गई हैं। एयरबेस पर अमेरिका के साथ गंठबंधन सेनाएं तैनात हैं। इस हमले में अमेरिका और गठबंधन सेनाओं को अभी तक किसी भी नुकसान की खबर नहीं है। अमेरिकी रक्षा अधिकारी के अनुसार करीब साढ़े पांच बजे इराक में अमेरिकी और गठबंधन सेना के ठिकानों पर 1 दर्जन मिसाइलों से हमला किया गया है। अमेरिका सेना बेस पर बुधवार तड़के मिसाइल हमले के बाद पेंटागन ने बयान जारी कर कहा कि वह हमले में हुए नुकसान का आकलन कर रहा है।

भारत के उत्तरप्रदेश में रहने वाले इस सख्स के कारण ईरान- अमरीका में हुई कट्टर दुश्मनी

जानकारी के अनुसार एक वरिष्ठ अधिकारी के हवाले से हमले की पुष्टि की जहां अमेरिकी सेना का बेस कैंप (US Al Asad Airbase) मौजूद है। इससे पहले भी ईरान ने अमेरिकी दूतावास पर हमला किया था जिसके बाद बगदाद में अमेरिकी ड्रोन हमले में कासिम सुलेमानी (Iranian General Qasim Sulemani) की हत्या की गई थी। एक ईरानी न्यूज़ एजेंसी  ने इराक के अमेरिकी एयरबेस पर दागे गए रॉकेट्स का वीडियो भी सोशल मीडिया पर जारी किया है. वीडियो में देखा जा सकता है कि किस तरह सुबह साढ़े 5 बजे आसमान से मिसाइलें गिर रही हैं और जमीन पर गिरते ही धमाका हो रहा है. इस दौरान कई लोगों की वहां से जान बचाकर भागने की आवाज़ भी सुनाई दे रही है.

डोनाल्ड ट्रंप का सिर कलम करने पर मिलेगा 80 मिलियन डॉलर का इनाम

(US Al Asad Airbase) ईरानी मिसाइल हमले के बाद अमेरिका राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप (America President Donald Trump) ने ट्वीट किया. ट्रंप ने लिखा, ‘ईरान ने 2 मिलिटरी बेस पर मिसाइल से हमला किया. सब ठीक है. पेंटागन नुकसान का आकलन कर रहा है. हमारे पास दुनिया की सबसे आधुनिक संसाधनों से लैस सेना है, कल सुबह दूंगा बयान.’ आपको बता दें की ईरान ने जनरल सुलेमानी की हत्या के बाद अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के खिलाफ जबरदस्त बदले की शपथ ली थी. जबकि, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ईरान की धमकियों के बाद ईरान के 52 ठिकानों को निशाना बनाने की बात कही थी. लोगों का अनुमान था कि ट्रंप ईरान की ऐतिहासिक जगहों पर हमले के बारे में कह रहे हैं.

सुलेमानी को मारने के बाद अमेरिका का एक और हमला, ईरान लेगा बदला

-Mradul tripathi

Share.