ईरान ने मानी गलती, कहा- यूक्रेन विमान को गलती से मार गिराया, 176 यात्रियों की हुई थी मौत

0

वॉशिंगटन (Washington) . तेहरान (Tehran) एयरपोर्ट पर बुधवार की सुबह यूक्रेन के विमान हादसे (Ukrainian Plane Crash) की जिम्मेदारी ईरान ने ले ली है. जानकारी के अनुसार ईरान आर्मी ने अपनी गलती (Iran Confesses Mistake) मानते हुए कहा है कि धोखे से उसने यूक्रेन के विमान (Ukrainian Plane Crash) को मार इस विमान हादसे में 176 यात्रियों की मौत हो गई थी. ईरान के विदेश मंत्री मोहम्मद जावेद जरीफ (Foreign Minister Mohammad Javed Zarif) ने ट्वीट करते हुए कहा, एक बुरा दिन. सशस्त्र बलों की ओर से की गई आंतरिक जांच में पता चला है कि अमेरिका (America)पर हमले के दौरान मानवीय गलती के चलते ये हादसा हो गया. हमें गहरा अफसोस है. हम उन परिवार के सदस्यों से माफी मांगते है जो इस गलती का शिकार हुए हैं.

दुश्मन का लड़ाकू विमान समझ ईरान ने 176 यात्रियों वाले प्लेन पर दागी मिसाइल!

इस हादसे (Iran Confesses Mistake)  को लेकर एक सनसनीखेज वीडियो सामने आया था, जिसमें अमेरिकी के दो मीडिया ग्रुप ‘सीएनएन’ और ‘न्यूयॉर्क टाइम्स’ (New York Times) को ईरान से नारिमन गारिब नाम के शख्स ने एक वीडियो भेजा था. इस वीडियो में देखा जा सकता था कि आसमान में रोशनी नजर आ रही है. फिर अचानक इसमें विस्फोट होता है. इस वीडियो में एक बिल्डिंग भी दिखती है. ये बिल्डिंग तेहरान के पारंद इलाके में है. दावा किया जा रहा है कि ईरान ने गलती से इस विमान पर निशाना साध दिया. हालांकि, न्यूज़ 18 इस वीडियो की पुष्टि नहीं करता है, लेकिन दुनिया भर में इस वीडियो की चर्चा हो रही है.

ईरान ने अपने देशवासियों से बोला झूठ, जानिये मिसाइल गिराने का सच

आपको (Iran Confesses Mistake)  बता दें की कनाडा और ब्रिटेन के प्रधानमंत्री (Prime Minister of Canada and Britain) ने पहले ही दावा किया था कि ईरान ने गलती से यूक्रेन के विमान पर हमला किया है. कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो (Canadian Prime Minister Justin Trudeau) का कहना है कि इस बात के सुबूत हैं कि ईरानी मिसाइल ने यूक्रेन के यात्री विमान को गलती से मार गिराया था. न्यूज़ एजेंसी एएफपी के मुताबिक, यूक्रेन के एक मंत्री ने ईरान में यूक्रेन विमान हादसे की जांच में संयुक्त राष्ट्र से बिना शर्त समर्थन मांगा है.

(Iran Confesses Mistake)  जानकारी के अनुसार बोइंग 737-800 विमानों का सवाल है तो इसे बेहद सुरक्षित माना जाता है. सेफ्टी के मामले में इसका काफी अच्छा रिकॉर्ड है. इस विमान का निर्माण साल 2016 में किया गया था. सोमवार को इसका शेड्यूल मेंटेनेंस भी हुआ था. इस बीच यूक्रेन एयरलाइंस (Ukraine Airlines) ने दावा किया है कि किसी गलती के चलते ये हादसा नहीं हुआ है. फ्लाइट के दोनों पायलटों को 11 हज़ार घंटे से ज़्यादा का अनुभव था. लिहाजा हादसे को लेकर हमले का भी शक जताया जा रहा है.

डोनाल्ड ट्रंप ने ईरान से शांति की अपील की, टल गई तीसरी जंग की आहट!

-Mradul tripathi

Share.