ईरान ने की 17 अमेरिकी जासूसों की हत्या, युद्ध के लिए तैयार दोनों देश

0

ईरान (Iran) पर जासूसों की हत्या के आरोप लगाए जा रहे हैं। ईरान मीडिया द्वारा दावा किया जा रहा है कि ईरान सरकार ने 17 अमेरिकी जासूसों (Iran Captured 17 America Spies) को पकड़ा है, जो केंद्रीय खुफिया विभाग यानी सीआईए (CIA) के लिए काम करते थे। उन सभी को फांसी पर चढ़ाया का चुका है। यह खबर सामने आने के बाद हड़कंप मच गया है। वहीं मंत्रालय की ओर जारी बयान में कहा गया है कि पकड़े गए जासूस संवेदनशील, निजी आर्थिक केंद्रों, सेना और साइबर क्षेत्र में नौकरी कर रहे थे जहां ये सभी महत्वपूर्ण सूचनाएं जुटाटे थे।

बिजली गिरने से 35 लोगों की मौत

सरकारी टीवी चैनल पर ईरान के इंटेलिजेंस मंत्री कहा कि CIA की जासूसी का पर्दाफाश करते हुए 17 संदिग्धों को गिरफ्तार (Iran Captured 17 America Spies) किया गया है। उन्होंने ये भी कहा कि इनमें से कुछ को मौत की सजा सुनाई गई है। ईरान और अमेरिका के बीच गतिरोध बढ़ता ही जा रहा है।  पिछले हफ्ते ईरान के रिवोल्यूशनरी गार्ड्स ने कहा था कि उन्होंने ‘अंतरराष्ट्रीय समुद्री नियमों’ को तोड़ने के लिए होर्मुज़ के स्ट्रेट में एक ब्रिटिश टैंकर को जब्त कर लिया है और इस खबर के बाद दोनों देश के बीच टकराव और बढ़ सकता है। 4 जुलाई को जब ब्रिटेन ने ईरान के एक टैंकर को सीज किया था जवाब में उसने भी ब्रिटिश ऑयल टैंकर को पिछले हफ्ते ही पकड़ लिया था। उस समय ईरान और पश्चिमी देशों के बीच तनाव बढ़ गया था।

ज़मीन के लिए दबंगों ने क्रूरता की हद पार की

अमेरिका और ईरान के बीच तनाव बढ़ते ही जा रहा है। कुछ समय पहले ही यह खबर आई थी कि अमेरिका ने ईरानी ड्रोन में मार गिराया। 2015 में ईरान और छह देशों के बीच हुए समझौते के रद्द हो जाने के बाद से इस इलाके में तेजी से परिस्थितियां बिगड़ने लगी थीं। तेहरान के अपने परमाणु कार्यक्रम पर रोक लगाने के एवज में उसपर लगाए गए प्रतिबंधों को हटा लिया गया था। प्रधानमंत्री कार्यालय की प्रवक्ता ने रविवार को कहा कि मंत्रियों और अधिकारियों से घटनाक्रम पर ताजा सूचना प्राप्त करने के अलावा बैठक में फारस की खाड़ी में तेल टैंकरों की सुरक्षा को लेकर भी चर्चा होगी।

आज़म खान को पाकिस्तान भेजना चाहता है यह बॉलीवुड स्टार

Share.