भारत बोला –  पीओके में प्रोजेक्ट्स बंद करो

0

चीन और भारत के आपसी संबंधों में दरार देखने को मिलती है| हालांकि  दोनों देशों के बीच अभी शांति का माहौल है| चीन ने भारत से ‘वन-चाइना पॉलिसी’ पर समर्थन मांगा है|  दोनों देशों के बीच हाल के समय में संबंधों में हुए सुधार के बाद चीन ने यह निवेदन किया है| 

वन-चाइना पॉलिसी में केवल पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना को पहचाना जाता है और ताइवान या रिपब्लिक ऑफ चाइना को मान्यता नहीं दी जाती है|  सूत्रों ने बताया कि भारत ने इसके जवाब में कहा है कि वह चाहता है कि चीन उन प्रॉजेक्ट्स से दूर रहे, जो भारत की संप्रभुता का उल्लंघन करते हैं|  इनमें पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में प्रोजेक्ट्स और चाइना-पाकिस्तान इकोनॉमिक कॉरिडोर शामिल हैं|

सीपीईसी को लेकर भारत की आशंकाओं को दूर करने के लिए चीन ने अभी तक कोई कदम नहीं उठाया है। इसी वजह से चीन के बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव का भारत विरोध कर रहा है|  प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के बीच 9 जून को होने वाली इस वर्ष की दूसरी मीटिंग से पहले चीन ने भारत को बताया है कि भारत की ओर से वन-चाइना पॉलिसी को स्वीकार करने से दोनों देशों के बीच आपसी विश्वास बढ़ाने में काफी मदद मिलेगी| ऐसा समझा जाता है कि विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और उनके चीन के समकक्ष वांग यी के बीच हाल ही में दक्षिण अफ्रीका में ब्रिक्स की मीटिंग के दौरान हुई बातचीत में भी यह मुद्दा उठा था|

Share.