भारत-पाकिस्तान विवाद के बीच अमेरिका ने लिया बड़ा फैसला

0

जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 (Article 370 Revoked From Jammu and Kashmir) के हटते ही पूरी दुनिया में इस मामले पर बहस शुरू हो है। जहां पाकिस्तान (PAKISTAN)  भारत (INDIA) सरकार द्वारा लिए गए फैसले का विरोध कर रहा है और बौखलाहट में ताबड़तोड़ फैसले ले रहा है वहीं अमेरिका (US Lifts Travel Restrictions On Pak Diplomats ) की ओर से भी इस मामले पर लगातार बयान सामने आ रहे हैं। जहां पहले अमेरिका की ओर से पाकिस्तान को फटकार लगाई गई थी और अपने देश के पर ध्यान देने की बात कही गई थी, लेकिन अब उसी अमेरिका ने कुछ ऐसा किया है कि फिर हंगामा मच गया है। अमेरिका के इस कदम से भारत आहत हो सकता है ।

बड़ी खबर, सरकार जनता को देगी फ्री इंटरनेट

पाकिस्तान की ओर से भारत के साथ राजनयिक संबंध खत्म कर दिए गए हैं, व्यापार भी रोक दिया गया है। इतना ही नहीं दोनों देशों के बीच चलने वाली समझौता एक्सप्रेस भी रोक (Pakistan Stops Samjhauta Express) दी गई है। इसी बीच अमेरिका ने बड़ा फैसला (US Lifts Travel Restrictions On Pak Diplomats ) लिया है। अमेरिका के फैसले से पाकिस्तान को राहत मिल सकती है। ट्रंप सरकार ने पाकिस्तानी राजनयिकों और कर्मचारियों की आवाजाही से प्रतिबंध हटा लिया है। यानि अब अमेरिका में पाकिस्तानी अधिकारी और कर्मचारी बिना किसी रोक टोक के कहीं भी जा सकते हैं।

महबूबा का आतंकी कनैक्शन

क्या था प्रतिबंध? कब लगा था ?

अमेरिका ने पाकिस्तान (US Lifts Travel Restrictions On Pak Diplomats ) में बढ़ी आतंकी घटनाओं के बाद पिछले साल वहाँ के राजनयिकों और उनके कर्मचारियों के लिए आदेश जारी किया था कि उनके कर्मचारी अमेरिका में 25 मील से दूर बिना परमीशन के कहीं नहीं जा सकते। जब अमेरिका ने यह आदेश जारी किया था तो उसके बाद पाकिस्तान ने भी अपने देश में रह रहे अमेरिकी अधिकारियों के लिए ऐसा ही आदेश जारी कर दिया था।

युद्ध को तैयार पाकिस्तान ने रोकी समझौता एक्सप्रेस, भेजा संदेश

अमेरिका ने पाकिस्तान के पक्ष में यह फैसला लिया है या नहीं इसका अभी किसी ने भी आधिकारिक तौर पर दावा नहीं किया गया है। इस बारे मे केवल पाकिस्तानी अखबार डॉन ने लिखा है। डॉन ने अपनी रिपोर्ट में लिखा है कि इस्लामाबाद ने भी अमेरिका के इस कदम के बाद पाकिस्तान में अमेरिकी राजनयिकों की सुविधाएं बहाल कर दी हैं। हालांकि, पाकिस्तान के विदेश विभाग ने इस घटना पर टिप्पणी नहीं की है।

 

Share.