फ़्रांस में पाक के कश्मीर कार्यक्रम पर भारत ने लगवाई रोक

0

नई दिल्ली: जम्मू कश्मीर (Jammu-Kashmir) से धारा 370 हटाए जाने के बाद से पाकिस्तान ने अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर जमकर इसपर गुहार लगाई थी लेकिन अफ़सोस किसी भी देश का समर्थन पाकिस्तान को नहीं मिला मौका मिलने पर कश्मीर राग अलापने से पाकिस्तान अभी भी पीछे नहीं रहता है। जानकारी के अनुसार पेरिस (Paris) स्थित पाकिस्तानी दूतावास (Pakistani Embassy) फ्रांसीसी संसद(French Parliament)  के निचले सदन में पीओके (PoK) के राष्ट्रपति मसूद खान ()India Has Blocked Masood Khan Event का कार्यक्रम कराना चाहता था.

खुले में शौच करने पर फिर एक मासूम की पीटकर हत्या

पाकिस्तान के इस कार्यक्रम के मनसूबे का भारत को जैसे ही पता चला तो उसने कूटनीतिक कदम उठाया। जिसके अनुसार फ्रांस की राजधानी पेरिस में भारतीय मिशन ने फ्रांस के विदेश मंत्रालय को एक आपत्ति पत्र भेजते हुए कहा कि इस तरह के कार्यक्रम से भारत की संप्रभुता का उल्लंघन होगा। और साथ ही भारत ने साफ किया कि पाकिस्तान के कब्जे वाला कश्मीर समेत पूरा जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा है.पाकिस्तान द्वारा कश्मीर मुद्दे पर पहले भी कई बार अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर समर्थन हासिल करने की कोशिश की जा चुकी है लेकिन जरूरी समर्थन नहीं प्राप्त कर पाया (India Has Blocked Masood Khan Event)।

पाकिस्तान जाने की तैयारी कर रहे पूर्व पीएम मनमोहन सिंह

फ़्रांस में रहने वाले भारतीय प्रवासियों ने भी नेशनल असेंबली के स्पीकर और सांसदों को पोक के इस कार्यक्रम के संबंध में मेल भेजे। मसूद खान फ्रांस के निचले सदन मे आयोजित कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि शामिल होने वाले थे। जब उन्हें फ्रांस सरकार ने कार्यक्रम में जाने की अनुमति नहीं दी तो पाकिस्तान के राजदूत मोइन-उल हक ने इसमें हिस्सा लिया और उनकी तरफ से संबोधित किया। फ्रांस संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद का स्थायी सदस्य है। उसने जम्मू कश्मीर में पाकिस्तान द्वारा की जाने आतंकी गतिविधियों के खिलाफ भारत का साथ दिया था।

असम के बाद कर्नाटक में भी लागू होगा NRC!

-Mradul tripathi

Share.