इमरान का इकरार, पाक सेना ही तैयार करती है नापाक आतंकी

0

आतंकवाद (Terrorism) शब्द सुनते ही जहन में पाकिस्तान (Pakistan)  आ ही जाता है। भारत (India) जैसे कई देशों में पहले से यह कहा जा रहा था कि पाकिस्तान आतंकियों को पनाह देता है, उनका ख्याल रखता और उन्हें आतंकी वारदातों के लिए तैयार भी करता है। अब खुद पाकिस्तान ने भी यह मान लिया कि वह नापाक आतंकियों के लिए पनाहगार बन चुका है। खुद पाकिस्तानी पीएम इमरान खान (PM Imran Khan)  ने यह बात स्वीकारी है कि उनकी सेना 30-40 हज़ार सशस्त्र आतंकवादियों को ट्रेनिंग दे चुकी है।

BJP Government In Madhya Pradesh : कर्नाटक के बाद मध्यप्रदेश में भाजपा सरकार की वापसी!

पाकिस्तान तैयार कर रहा आतंकी

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान (PM Imran Khan ) ने यह भी कहा कि वे आतंकियों को प्रशिक्षित करते हैं ताकि अफ़गानिस्तान या कश्मीर में लड़ाई लड़ सके और उनकी सुरक्षा हो सके। पाक पीएम का यह कबूलनामा कही और नहीं बल्कि अमेरिका में हुआ। उन्होंने अमेरिकी सांसदों को संबोधित करते हुए कहा कि पाकिस्तानी सेना ने अफ़ग़ानिस्तान में कई आतंकवादियों को पैदा किया है। पाकिस्तान में 40 अलग-अलग आतंकवादी समूह सक्रिय थे। पाकिस्तान ऐसे दौर से गुजरा है, जहां हमारे जैसे लोग चिंतित थे कि क्या हम (पाकिस्तान) इससे सुरक्षित निकल पाएंगे। इसलिए जब अमेरिका हमसे और करने और अमेरिका की लड़ाई को जीतने में हमारी मदद की आशा कर रहा था उसी वक्त पाकिस्तान अपना अस्तित्व बचाने के लिए लड़ रहा था।

Video : 2 केलों की कीमत सुनकर उड़ जाएंगे होश

पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने आगे कहा कि पाकिस्तान के अंदर कई आतंकवादी समूह सक्रिय है। हम उन्हें हटाने के लिए दृढ़संकल्पित है। जब तक हमारे सुरक्षाकर्मी साथ नहीं देंगे तब तक इन आतंकवादी समूह पर नियंत्रण करना मुश्किल होगा। उनके देश में पिछली सरकारों ने अमेरिका को सच नहीं बताया खासतौर से पिछले 15 वर्षों में। पाकिस्तान में 30-40 अलग-अलग आतंकवादी समूह सक्रिय थे, लेकिन हम अमेरिका की लड़ाई में शामिल हुए। हम आतंक के खिलाफ अमेरिकी लड़ाई लड़ रहे हैं।  पाकिस्तान का 9/11 से कोई लेना-देना नहीं था। अल-कायदा अफगानिस्तान में है। पाकिस्तान में कहीं भी आतंकी तालिबान नहीं है, लेकिन हमने अमेरिका के युद्ध में हिस्सा लिया।  दुर्भाग्यवश जब चीजें गलत हुई, तो हमने अमेरिका को कभी जमीनी हकीकत से वाकिफ नहीं कराया।  इसके लिए मैं अपनी सरकार को जिम्मेदार ठहराता हूं। ”

मप्र में कारों की कीमत 50000 रूपए बढ़ी

Share.