रासायनिक हमलों ने दहलाया दिल

0

कहते हैं किलकारियों को मुस्कुराहट देना किसी इबादत से कम नहीं है, पर जब सांसें कातिल बन जाए तो किलकारियां गूंजती नहीं बल्कि घुट जाती हैं और यही हुआ सीरिया में| सीरिया में रासायनिक हमलों के बाद कुछ ऐसी ही दिल दहला देने वाली तस्वीरें देखने को मिलीं| वैसे तो गत कुछ वर्षों से सीरिया के लोगों ने जीवन के नाम पर नर्क देखा है, लेकिन कहते हैं न की जब ताबूत नन्हे मासूमों का हो तो और भी भारी हो जाता है|

सीरिया में हुए रासायनिक हथियारों के हमले से हुई तबाही की तस्वीरें देखने के बाद आपको एक बार तो इंसानियत पर शर्म जरूर आएगी| विद्रोहियों के कब्जे वाली दोउमा में कथित तौर पर जहरीली गैस के हमले में 100 से ज्यादा लोग मारे गए, जिनमें बच्चों की तादाद ज्यादा है|

विश्व स्वास्थ संगठन के अनुसार, सीरिया में रासायनिक हमलों से लगभग 500 लोग प्रभावित हुए हैं| लोगों में, विशेषकर बच्चों में जहरीले केमिकलों के लक्षण देखने को मिल रहे हैं| इसमें सांस लेने में तकलीफ, शरीर पर छाले, दिमाग पर असर शामिल है| ऐसे में एक बार फिर दुनिया की इंसानियत पर सवाल किया जाना जायज है|

हालांकि रासायनिक हमलों के बाद अमरीका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने रूस, ईरान और सीरियाई राष्ट्रपति बशर अल-असद को जिम्मेदार ठहराया है| गौरतलब है कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा है कि 48 घंटों के भीतर कोई बड़ा निर्णय लिया जाएगा| सीरिया से आई ये तस्वीरें बेहद दर्दनाक हैं और विश्व की शांति पर नए सवाल खड़े करती है|

Share.