पूर्व राष्ट्रपति मनी लॉन्ड्रिंग के दोषी करार, दो साल की सजा

0

सूडान के पूर्व राष्ट्रपति (Former president of sudan) उमर अल बशीर को एक अदालत ने धनशोधन और भ्रष्टाचार (Money laundering and Corruption) के मामले में शनिवार 14 दिसंबर को दोषी करार दिया और उन्हें कम से कम दो साल तक जेल में रहने की सजा सुनाई। बशीर के खिलाफ चल रहे कई मुकदमे में पहला फैसला आया है। बशीर 2000 के दशक में दरफुर में संघर्ष से संबंधित नरसंहार और युद्ध अपराध मामले में अंतरराष्ट्रीय अपराध अदालत (International crime court) द्वारा भी वांछित घोषित किये गए थे। उनके खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया गया था क्योंकि उनके घर में 13 करोड़ डॉलर से अधिक की धनराशि बरामद हुई थी। ( Former Sudan president ) पूर्व राष्ट्रपति ने माना कि यह 2.5 करोड़ डॉलर की धनराशि सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्म बिन सलमान (Crown Prince Mohammed bin Salman of Saudi Arabia) से मिले थे और खुद को बेकसूर ठहराया।

DMRC Recruitment 2019 : मेट्रो में नौकरी करने का मौका

आपको बता दें की बशीर के शासनकाल में अमेरिका ने सूडान को आतंकवाद प्रायोजित करने वाले देशों की सूची में डाल दिया था जिससे उसकी अर्थव्‍यवस्‍था बुरी तरह चरमरा गई है। ( Former Sudan president )  फैसला पढ़े जाने से पहले बशीर के समर्थकों ने अदालत की कार्यवाही बाधित की। हालांकि सुरक्षाबलों ने उन्‍हें कोर्ट रूम से बाहर खदेड़ दिया। 75 वर्षीय पूर्व राष्‍ट्रपति अप्रैल से ही हिरासत में हैं।

श्रद्धालुओं से भरी बस 500 मीटर गहरी खाई में गिरी 14 की मौत, 19 घायल

इस साल की शुरुआत में पूर्व राष्‍ट्रपति उमर अल-बशीर (Omar al-Bashir) को मनी लॉन्ड्रिंग का आरोपी बनाया गया था। तख्‍तापलट के बाद उनके घर से लाखों डॉलर, पाउंड और यूरो की रकम जब्‍त की गई थी। इन सबके बीच सूडानी सेना ने कहा है कि वह संगीन मामलों में आरोपी पूर्व राष्‍ट्रपति को इंटरनेशनल क्रिमिनल कोर्ट के समक्ष प्रत्‍यर्पित नहीं करेगी। ( Former Sudan president )  भ्रष्‍टाचार के जिस मामले में बशीर को सजा हुई है वह नरसंहार और हत्‍याओं के मामलों से अलग है।

नागरिकता कानून पर दिल्ली से लंदन तक मचा बवाल

-Mradul tripathi

Share.