गरीबी से जूझ रहे पाकिस्तान को FATF ने किया ब्लैक लिस्ट, भिखारी बना पाक

0

भारत के आर्टिकल 370 के फैसले से बौखलाए पाकिस्तान को फिर एक बड़ा झटका लगा है। आतंकवाद पर बड़ी कार्रवाई नहीं करने और अपने देश में आतंकी गतिविधियों पर बड़ा फैसला नहीं लेने के कारण पाकिस्तान को FATF (Financial Action Task Force ) ने ब्लैक लिस्ट (FATF Asia Pacific Group Blacklists Pakistan ) कर दिया है।

भारत को परमाणु हमले की धमकी देने वाले पाकिस्तानी रेल मंत्री की पिटाई

पाकिस्तान दुनियाभर के देशों में अपनी आर्थिक स्थिति सुधारने के लिए भीख मांग रहा है और ऐसे समय यह फैसला उसे और बर्बाद कर सकता है। फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (FATF Asia Pacific Group Blacklists Pakistan ) के एशिया पैसिफिक ग्रुप (Asia Pacific Group) ने शुक्रवार को पाकिस्तान को वैश्विक मानकों को पूरा करने में विफलता के लिए ‘ब्लैकलिस्ट’ में डाल दिया। एफएटीएफ ने मनी लॉन्ड्रिंग और टेरर फाइनेंसिंग के 40 में से 32 पैरामीटर पर पाकिस्तान को अयोग्य पाया, जिसके बाद यह फैसला लिया गया।

पाकिस्तान ने 450 पन्नों का दस्तावेज पेश किया था,जिसमें उसने अपने देश के बारे में पूरा ब्योरा दिया था। उसमें पाकिस्तान ने यह दावा किया था कि उसने लश्कर-ए-तैयबा / जमात-उद-दावा (JuD) के प्रमुख हाफिज सईद पर आतंकी वित्त पोषण का आरोप लगाया और इस वर्ष के जारी प्रयासों के तहत JuD और अन्य UNSC के सभी संपत्तियों को प्रतिबंधित कर दिया था।

मुस्लिमों ने तिरंगा लेकर किया पीएम मोदी का स्वागत, बौखलाया पाकिस्तान

FATF के फैसले के बाद अब क्या होगा ? (FATF Asia Pacific Group Blacklists Pakistan )

FATF से पाकिस्तान को ब्लैक लिस्ट किए जाने का मतलब यह है कि वह देश मनी लॉन्ड्रिंग और आतंकी गतिविधियों के लिए फंडिंग के खिलाफ वैश्विक लड़ाई में सहयोग नहीं कर रहा है। इससे आईएमएफ, वर्ल्ड बैंक, यूरोपीय संघ जैसे बहुपक्षीय कर्जदाता उसकी ग्रेडिंग कम कर सकते हैं। अब दुनियाभर के देशों की ओर से आर्थिक सहायता मिलने का रास्ता पूरी तरह से पाकिस्तान के लिए बंद हो जाएगा।

CBI रिमांड में ऐसे गुजरी पी चिदबंरम की रात

Share.