स्वीडन और ब्रिटेन से संबंध बेहतर करने पर जोर

0

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज से स्वीडन, ब्रिटेन और जर्मनी के पांच दिवसीय दौरे पर जा रहे हैं| अपनी यात्रा पर जाने से पहले उन्होंने कहा कि उनकी इस यात्रा के बाद स्वीडन और ब्रिटेन से संबंध और ज्यादा बेहतर हो जाएंगे| राष्ट्रमंडल देशों की बैठक अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर चर्चा करने का बेहतरीन मंच है| वर्ष 1988 के बाद से कोई भी पीएम स्वीडन की यात्रा पर नहीं गया है|

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार शाम स्‍वीडन की राजधानी स्‍टॉकहोम पहुंचेंगे| वहां 17 अप्रैल को पहले वे इंडिया-नोर्डिक शिखर सम्‍मेलन में शामिल होंगे| इस सम्मेलन में स्‍वीडन, नॉर्वे, फिनलैंड, डेनमार्क और आइसलैंड देशों के प्रतिनिधि भी शिरकत करेंगे|

बताया जा रहा है कि पीएम मंगलवार शाम को ब्रिटेन का रुख करेंगे और 20 अप्रैल को वे कुछ देर के लिए जर्मनी जाएंगे, जहां उनकी चांसलर एजेंला मर्केल से मुलाकात होगी|

प्रधानमंत्री के कार्यक्रम

प्रधानमंत्री 17 अप्रैल से 20 अप्रैल तक स्वीडन और ब्रिटेन में रहेंगे| इसके बाद मंगलवार रात वे स्वीडन से यूके पहुंचेंगे|

18 अप्रैल को ब्रिटिश पीएम थेरेसा मे से पीएम मोदी की मुलाकात होगी| इस दौरान दोनों नेता तकनीकी, शिक्षा और व्यापार जैसे द्विपक्षीय मसलों पर बात करेंगे| इसी दिन वे एक बैठक में शामिल होंगे, जिसमें महारानी एलिजाबेथ-2 भी मौजूद रहेंगी| इसके बाद 19 और 20 की सुबह प्रधानमंत्री ब्रिटेन के नेताओं और प्रतिनिधिमंडल से मिलेंगे| 20 अप्रैल को पीएम मोदी ब्रिटेन से जर्मनी के लिए रवाना हो जाएंगे, जहां चांसलर एजेंला मर्केल से उनकी मुलाक़ात होगी|

Share.