डोनाल्ड ट्रंप ने ईरान से शांति की अपील की, टल गई तीसरी जंग की आहट!

0

वॉशिंगटन: कुद्स फोर्स के प्रमुख मेजर जनरल कासिम सुलेमानी (General Qasim Sulemani) की मौत के बाद ईरान से बढ़े विवाद और तनाव के बीच अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (US President Donald Trump Appeals For Peace) ने बुधवार को राष्ट्र को संबोधित किया. व्हाइट हाउस (White House) से जैसे ही ट्रंप ने संबोधन शुरू किया, तो लगा कि वह ईरान को लेकर बड़ा ऐलान कर सकते हैं. हालांकि, ऐसा कुछ भी नहीं हुआ. संबोधन के दौरान ट्रंप बेहद शांत दिखाई दिए. उन्होंने ईरान के साथ शांति की पेशकश कर हर किसी को हैरान कर दिया.

Donald Trump’s Letter To Recep Tayyip Erdogan : डोनाल्ड ट्रंप ने तुर्की को धमकाया, सुधर जाओ वरना….

ईरानी नेताओं और लोगों को सीधा संदेश देते हुए ट्रंप ने कहा कि अमेरिका (US President Donald Trump Appeals For Peace) उन सभी के साथ शांति के लिए तैयार है, जो शांति चाहते हैं। उन्होंने कहा, ‘ईरान के नेताओं और लोगों के लिए, हम चाहते हैं कि आपका शानदार भविष्य हो जिसके आप हकदार हैं।’ बता दें कि अमेरिका के ड्रोन हमले में कासिम सुलेमानी की मौत पर पलटवार करते हुए ईरान ने बुधवार अल सुबह ईराक के दो बेस पर 22 मिसाइल दागी थीं और 80 अमेरिकी सैनिकों के मारे जाने का दावा किया था। हालांकि अमेरिका ने ईरान के दावे को खारिज करके कहा कि हमले में स्ट्रक्चरल डैमेज हुआ और किसी भी अमेरिकी की जान नहीं गई। डॉनल्ड ट्रंप ने भी ईरान के हमले पर ट्वीट किया- ‘ऑल इज वेल।’ उन्होंने यह भी कहा कि अमेरिका के मिलिट्री बेसों पर बेहद कम नुकसान हुआ और हमले में किसी अमेरिकी की जान नहीं गई।

Donald Trump ने चीन को बताया दुनिया के लिए बड़ा खतरा

मिसाइल हमले से ईरान ने साधा एक साथ दो निशाने-

अमेरिकी राष्ट्रपति (US President Donald Trump Appeals For Peace) के बयान में विशेषज्ञों की उस राय से सहमति दिखाई दी जिसमें कहा गया कि ईरान ने जानबूझकर ऐसा लक्ष्य चुना जहां कम नुकसान हो और चेतावनी का संदेश जाए। मिसाइल अटैक के जरिए एक ही समय में दो चालें चली। एक तरफ मिसाइल अटैक से अमेरिका को ज्यादा नुकसान नहीं भी हुआ, साथ ही अपने देश में संदेश देने का काम भी किया। ट्रंप ने कहा कि ईरान नरम होता प्रतीत हो रहा है, जो कि सभी पक्षों के लिए अच्छी बात है। ट्रंप ने यह भी कि वह ईरान को जवाब देने के लिए विकल्पों को देखेंगे और आर्थिक प्रतिबंध लगाकर ईरान को दंडित करेंगे।

ईरान ने कहा आत्मरक्षा में किया मिसाइल हमला-

इससे पहले इराक में अमेरिकी (US President Donald Trump Appeals For Peace) सैन्य ठिकानों पर सफाई देते हुए ईरान के विदेश मंत्री जवाद जरीफ ने कहा था कि ईरान ने आत्मरक्षा के लिए मिसाइल दागी हैं। उन्होंने कहा, ‘संयुक्त राष्ट्र चार्टर के आर्टिकल 51 के तहत आत्मरक्षा के लिए मिसाइल दागी गईं।’ उन्होंने आगे कहा कि वह युद्ध या तनाव को नहीं बढ़ाना चाहते हैं लेकिन किसी तरह के हमले से खुद को बचाना चाहते हैं। हालांकि ईरान के सर्वोच्च नेता अयातुल्ला खामनेई ने इसे अमेरिका के घमंड पर तमाचा बताया।

डोनाल्ड ट्रंप ने ईरान से शांति की अपील की, टल गई तीसरी जंग की आहट!

 

-Mradul tripathi

Share.