दुश्मन का लड़ाकू विमान समझ ईरान ने 176 यात्रियों वाले प्लेन पर दागी मिसाइल!

0

तेहरान. बुधवार की सुबह तेहरान एयरपोर्ट (Tehran Airport) पर यूक्रेन (Iran Target Ukrainian Airlines Flight) का एक प्लेन क्रैश हो गया. इस हादसे में सभी 176 यात्रियों की मौत हो गई. ईरान की तरफ से कहा गया कि तकनीकी खराबी के चलते उड़ान भरते ही ये विमान क्रैश हो गया. लेकिन इस हादसे को लेकर कई सवाल उठाये जा रहे है। दावा किया जा रहा है कि ईरान ने दुश्मन का लड़ाकू विमान समझ गलती से इस विमान पर मिसाइल दाग दी जिससे ये हादसा हो गया. हालांकि ईरान ने ऐसी अफवाहों से इनकार किया लेकिन इस हादसे की जो वजह बताई जा रही है वो किसी के गले नहीं उतर रही है. आखिर क्यों इस हादसे को संदेह की नजरों से देखा जा रहा है.

डोनाल्ड ट्रंप ने ईरान से शांति की अपील की, टल गई तीसरी जंग की आहट!

बोइंग 737-800 ने तेहरान एयरपोर्ट (Tehran Airport) से सुबह 6 बजकर 13 मिनट पर उड़ान भरी थी. लेकिन 2-3 मिनट के अंदर ही विमान क्रैश हो गया. हादसे के बाद ईरान (Iran Target Ukrainian Airlines Flight) की एक न्यूज़ एजेंसी ने वीडियो ट्वीट किया. इसमें देखा जा सकता है कि हादसे के बाद आग की लपटे नीचे की तरफ आने लगीं. बता दें कि ये हादसा इराक में अमेरिकी एयर बेस (American air base) पर मिसाइल अटैक के बाद हुआ था. ऐसे में इस हादसे को लेकर कई तरह की अटकलें लगाई जा रही हैं. हादसा कैसे हुआ इसके बारे में फिलहाल साफ तौर पर कुछ भी नहीं कहा जा सकता है. लेकिन एक एविएशन एक्सपर्ट पीटर गोल्ज़ (Aviation Expert Peter Golz) ने दावा किया है कि हो सकता है कि फ्लाइट पर हमला किया गया हो. उनका कहना है कि जब जांच दल अपना काम शुरू करेगा तो फिर वे हमले की एंगल से शुरुआती जांच करेंगे.

ईरान ने किया जंग का ऐलान दागी एक दर्जन से ज्यादा मिसाइलें

ईरान पर किया जा रहा संदेह-

(Iran Target Ukrainian Airlines Flight) हादसे के तुरंत बाद दोनों देशों ने अलग-अलग बयान दिए. ईरान के एक मंत्री क़ासिम बिनियाज़ (Minister Qasim Biniyaz) ने कहा कि इंजन में आग लग गई और पायलट ने नियंत्रण खो दिया. उधर तेहरान में यूक्रेन के दूतावास ने किसी भी आतंकी या राकेट हमले से इनकार किया. बाद में कहा गया कि अभी कुछ भी कहना मुश्किल है कि आखिर ये हादसा कैसे हुआ. ब्लैक बॉक्स से हादसे की वजहों का पता लग सकता है. लेकिन ईरान ने फिलहाल ब्लैक बॉक्स देने से इनकार कर दिया है. ईरान ने कहा है कि वो अमेरिका की कंपनी को ब्लैक बॉक्स नहीं भेजेंगे. ऐसे में ईरान के इस बयान को संदेह की नजरों से देखा जा रहा है.

अनुभवी पायलट और फिट प्लेन-

जहां तक बोइंग 737-800 विमानों का सवाल है (Iran Target Ukrainian Airlines Flight) तो इसे बेहद सुरक्षित माना जाता है. सेफ्टी के मामले में इसका काफी अच्छा रिकॉर्ड भी. इस विमान का निर्माण साल 2016 में किया गया था. सोमवार को इसका शेड्यूल मेंटेनेंस भी हुआ था. इस बीच यूक्रेन एयरलाइंस (Ukraine Airlines) ने दावा किया है कि किसी गलती के चलते ये हादसा नहीं हुआ है. फ्लाइट के दोनों पायलटों को 11 हज़ार घंटे से ज़्यादा का अनुभव था. लिहाजा हादसे को लेकर हमले का भी शक जताया जा रहा है.

भारत के उत्तरप्रदेश में रहने वाले इस सख्स के कारण ईरान- अमरीका में हुई कट्टर दुश्मनी

-Mradul tripathi

Share.