भाषा की वजह से करीब आए देश

0

भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज चीन दौरे पर हैं| उन्होंने चीन की राजधानी बीजिंग में आज छात्रों से मुलाक़ात की| छात्रों को संबोधित करते हुए सुषमा ने कहा कि दोनों देशों के रिश्ते एक-दूसरे के लिए काफी महत्वपूर्ण हैं| हमारे रिश्तों के लिए महत्वपूर्ण हैं कि हम एक-दूसरे की भाषा को न सिर्फ जानें बल्कि सीखें भी|

विदेश मंत्री ने कहा कि दो देशों के विदेश मंत्री जितना रिश्तों को प्रगाढ़ करने की कोशिश कर रहे हैं, उतना ही चीनी छात्र रिश्तों को मजबूत करने में लगे हुए हैं, जो हिन्दी भाषा को सीखने और जानने में दिलचस्पी दिखा रहे हैं|

सुषमा ने भारतीय भाषा के बारे में बोलते हुए कहा, “भारतीय सिनेमा का चीन में तेजी से न सिर्फ विकास हो रहा है बल्कि लोग बॉलीवुड को पसंद करने लगे हैं| कुछ दिन पहले मुझे एक चीन के छात्र ने कहा था कि उनका भारत आना सपना है| अब उन छात्रों का सपना जल्द ही पूरा होने वाला है| मैं भारतीय राजदूत से पूछूंगी कि चीन में हिन्दी सीख रहे 25 छात्रों को एक बार भारत का दौरा करवाया जाए|”

Share.