website counter widget

पाकिस्तान ने फिर अलापा कश्मीर राग शशि थरूर ने फटकारा

0

नई दिल्ली: इन दिनों लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला(Om birla) के नेतृत्व में भारतीय संसदीय प्रतिनिधिमंडल इंटर पार्लियामेंट्री यूनियन की 141वीं असेंबली में हिस्सा लेने सर्बिया(Sarbia) की राजधानी बेलग्रेड में है. भारतीय प्रतिनिधिमंडल में सभी पार्टियों के सांसद शामिल हैं जिनमें शशि थरूर, कनिमोझी करुणानिधि, वानसुक स्याम, राम कुमार वर्मा और सस्मित पात्रा जैसे जन प्रतिनिधि शामिल हैं.13 से 17 अक्टूबर तक इंटर-पार्ल्यामेंट्री यूनियन (आईपीयू) की सालाना बैठक चलेगी। इसके इतर एपीए की बैठक हुई. हर बार की तरह इस बार भी पाकिस्तान(Pakistan) के द्वारा इस बैठक में कश्मीर का राग अलापा गया।

जानकारी के अनुसार बैठक में पाकिस्तान ने कहा कि वह जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir)में ताजा हालात के मद्देनजर इस बैठक का आयोजन अपने यहां नहीं करा सकता है. शशि थरूर ने पाकिस्तान के इस रवैये पर लताड़ लगाई और कहा कि वह भारत के आंतरिक मामले का हवाला देकर इस मंच के राजनीतिकरण की कोशिश कर रहा है.
थरूर ने कहा, “जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है. जम्मू-कश्मीर की स्थिति में ऐसा कुछ भी नहीं जो किसी भी रूप में उनके देश में रहने और काम करने की स्थिति को प्रभावित करे, इस्लामाबाद (Islamabad) की तो बात ही छोड़िये.” शशि थरूर ने कहा, “भारत के आंतरिक मामले उसकी सीमाओं से बाहर नहीं जाते और पड़ोसियों को प्रभावित नहीं करते.”

तिरुवनंतपुरम (Thiruvananthapuram) से सांसद शशि थरूर ने कहा, “इस परिस्थिति में यह दुर्भाग्यपूर्ण और हैरान करने वाला है कि वह यह उम्मीद करते हैं कि यह गरिमापूर्ण सभा दिसंबर 2019 में एपीए के पूर्ण सत्र की मेजबानी करने की अक्षमता या अनिच्छा के लिये इस तरह के बहाने को स्वीकार करेगी.”
पाकिस्तान ने पहले भी कई बार अंतर्राष्ट्रीय मंचो पर कश्मीर (Kashmir) का मुद्दा उठाने की कोशिश की लेकिन भारत ने उसके प्रयासों को को हर बार मात दी है।

-Mradul tripathi

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.