तिरंगा फाड़े जाने पर ब्रिटेन ने…

0

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ब्रिटेन यात्रा के दौरान कल एक अप्रिय घटना हो गई। यहां कथित समूह उग्र हो गए और सभी 53 राष्ट्रमंडल देशों के फ्लैग पोल पर लगे आधिकारिक झंडों में से तिरंगे को फाड़ दिया। द्विपक्षीय और चोगाम वार्ता के लिए लंदन आए पीएम मोदी ने जब अपनी ब्रिटिश समकक्ष थेरेसा मे से मुलाकात की| तब वहां प्रदर्शनकारियों का विरोध प्रदर्शन जारी था।

मची थी अफरा-तफरी

तिरंगे फाड़े जाने के विरोध में एक समूह तिरंगा फाड़ने वाले युवकों से भिड़ गया, जिससे कुछ देर में अफरा-तफरी मच गई। मौके पर मौजूद स्कॉटलैंड यॉर्ड के अधिकारियों को बीच-बचाव करना पड़ा। इस दौरान खालिस्तान समर्थक प्रदर्शनकारी कुछ ज्यादा हिंसक हो गए थे। आपको बता दें कि झंडा फाड़े जाने से पहले यूनिटेड किंगडम सिख फेडरेशन के कुछ खालिस्तान समर्थक प्रदर्शनकारी तथा पाकिस्तानी मूल के पीर लॉर्ड अहमद की अगुवाई वाले तथाकथित माइनॉरिटीज अगेन्स्ट मोदी के प्रदर्शनकारियों सहित करीब 500 लोग पार्लियामेंट स्क्वायर में एकत्र हो गए थे।

मांगी माफी

पीएम की यात्रा से संबद्ध भारत के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि हमने ब्रिटिश अधिकारियों के समक्ष अपनी चिंता जताते हुए घटना के लिए माफी मांगी है। उन्होंने कहा कि हमने उन्हें आगाह किया था कि कुछ तत्व परेशानियां पैदा करेंगे और उन्होंने कार्रवाई का आश्वासन दिया था। बाद में भारतीय ध्वज (तिरंगा) को बदल दिया गया था।

पीएम का विरोध

प्रदर्शनकारियों में भारतीय महिलाओं के कई समूह भी शामिल थे। इन लोगों ने भारत में हो रहे अत्याचारों के खिलाफ अपने मूक प्रदर्शन के लिए सफेद कपड़े पहने हुए थे। उनके हाथ में तख्तियां थी जिन पर लिखा था, ”मैं हिंदुस्तान हूं,मैं शर्मिंदा हूं, बेटी बचाओ”।

Share.