भारतीय मूल के सात लोगों को ऑस्ट्रेलिया का शीर्ष सम्मान

0

भारतीय किसी भी मामले में अन्य देशों के लोगों से कम नहीं है | पूरे विश्व में काम कर रहे भारत के लोगों ने अपनी काबिलियत और प्रतिभा का लोहा मनवाया है | अमेरिका हो या फ़्रांस, कनाडा हो या ऑस्ट्रेलिया हर देश में भारतीय सफलता की ऊँचाइयों को छु रहे हैं| आंकड़ों के अनुसार, अमेरिका की अंतरिक्ष एजेंसी नासा में 36 प्रतिशत भारतीय है | इसी तरह विश्व के कई देशों के संस्थानों में महत्वपूर्ण पदों पर भारतीय शोभायमान हैं| अब भारत के लिए एक और गर्व का अवसर (Seven Indian Origin Australians Receive Top Honors) आया है|

बड़बोले वरुण गांधी ने कहा, किसी माई के लाल में….

प्राप्त जानकारी के अनुसार, ऑस्ट्रेलिया में भारतीय मूल के सात लोगों को चिकित्सा, संगीत, शिक्षा और वित्त के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान के लिए ऑस्ट्रेलिया का शीर्ष सम्मान (Seven Indian Origin Australians Receive Top Honors) प्रदान किया गया है। इनमें तीन महिलाएं भी शामिल हैं।

ये पुरस्कार सोमवार रात आयोजित एक कार्यक्रम में प्रदान किए गए (Seven Indian Origin Australians Receive Top Honors) :

दरअसल, मोनाश अल्फ्रेड साइकेट्री रिसर्च सेंटर की निदेशक जयश्री कुलकर्णी को चिकित्सा के क्षेत्र में योगदान के लिए मेडल ऑफ द ऑर्डर ऑफ ऑस्ट्रेलिया (ओएएम), जयश्री रामचंद्रन को परफॉर्मिंग आर्ट के लिए जबकि, विनीता हार्दिकर को चिकित्सा के क्षेत्र में योगदान के लिए ओएएम से सम्मानित किया गया।

इंदौर घमासान : विजयवर्गीय की चेतावनी, तो जीतू का पलटवार

इसके अलावा शशिकांत कोचर को परमार्थ कार्यों के लिए, अरुण कुमार को वित्त क्षेत्र, कृष्णा धाना नदीमपल्ली को बहुसंस्कृति और महा सिन्नाथंबी को संपत्ति उद्योग के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए ओएएम से सम्मानित किया गया।

महारानी एलिजाबेथ के जन्मदिन के अवसर पर दिया जाने वाला यह सम्मान एक हजार से अधिक ऑस्ट्रेलियाई लोगों को दिया गया है और इसमें 40 प्रतिशत महिलाएं हैं। ऑस्ट्रेलिया के पूर्व प्रधानमंत्री केविन रड, अभिनेता ह्यू जैकमैन को शीर्ष नागरिक सम्मान कंपैनियन ऑफ द ऑर्डर से जबकि फिल्म अभिनेता एरिक बाना को मेंबर ऑफ द ऑर्डर (एएम) से सम्मानित किया गया।

”मैं आत्महत्या कर रहा हूं”

प्रधानमंत्री भी हो चुके हैं सम्मानित

भारतीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भी कई देशों से सम्मानित हो चुके हैं| उन्हें दक्षिण कोरिया के सियोल शांति पुरस्‍कार से सम्मानित (Narendra Modi Award From Seol Peace Prize) किया गया था | दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जे-इन ने अपने सरकारी आवास ब्लू हाउस में मोदी का औपचारिक स्वागत किया था| वहां पर पीएम में दुनियाभर से अपील की कि वे आतंकवाद के खिलाफ साथ आएं| सियोल शांति पुरस्‍कार पाने वाले पीएम मोदी पहले भारतीय बने थे| प्रधानमंत्री मोदी को उनकी आर्थिक नीतियों और विकासोन्‍मुखी कार्यों के लिए यह सम्‍मान दिया गया था | पीएम मोदी ने इसे 130 करोड़ भारतीयों का सम्मान बताया था| पीएम मोदी से पहले यह पुरस्‍कार संयुक्‍त राष्‍ट्र के पूर्व महासचिवों कोफी अन्‍नान और बान की-मून को भी मिल चुका है|

Share.