मेहुल चोकसी: 130 देशों में बिना वीजा घूमने के लिए…

0

देश का पैसा लूट कर विदेश भागे भगौड़े हीरा व्यापारी मेहुल चोकसी ने स्वयं से संबंधित कई दावे किए हैं| उसने दावा किया कि उसने अपना व्यापार बढ़ाने के लिए पिछले वर्ष कैरेबियाई देश एंटीगुआ की नागरिकता ले ली थी| उसके वकील डेविड डोरसेट ने बयान जारी कर कहा है कि भारतीय सरकार द्वारा लगाए जा रहे आरोपों में कोई सच्चाई नहीं है|

मेहुल चोकसी का कहना है, “मैं कह सकता हूं कि मैंने ‘सिटीजनशिप बाई इन्वेस्टमेंट प्रोग्राम’ के तहत वैध तरीके से एंटीगुआ और बारबुडा की नागरिकता के लिए आवेदन किया था| अपने आवेदन के दौरान मैंने वह सब कुछ किया, जो कानूनी रूप से आवश्यक था| नागरिकता के लिए मेरा आवेदन तय प्रक्रिया के तहत मंजूर हुआ है| उसने आगे कहा कि उसका आवेदन कैरेबियाई देशों में व्यापार बढ़ाने की मंशा और 130 से ज्यादा देशों की वीजा मुक्त यात्रा से प्रेरित था|

सीबीआई ने मांगी मदद

भारत से सीबीआई ने एंटीगुआ के अधिकारियों को पत्र लिखकर मेहुल चोकसी के ठिकाने के बारे में जानकारी मांगी है| इस मामले में सीबीआई की तरफ से एंटीगुआ के अधिकारियों को भेजे गए पत्र में भगोड़े व्यवसायी के खिलाफ इंटरपोल की तरफ से जारी नोटिस का हवाला दिया गया और उसकी आवाजाही, वर्तमान ठिकाने का ब्यौरा मांगा|

वहीं वहां के एक अखबार की खबर के अनुसार एंटीगुआ की सरकार ने संकेत दिया है कि वह भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी के मामा मेहुल चोकसी को भारत वापस भेजने के वैध अनुरोध पर विचार कर सकता है| एंटीगुआ और बारबुडा सरकार भारत की तरफ से किए गए वैध अनुरोध का कानून के मुताबिक सम्मान करने के लिए हरसंभव प्रयास करेगी|

नीरव मोदी लगा रहा ब्रिटेन में जुगाड़

नीरव मोदी और मेहुलचोकसी के खिलाफ…

Share.