website counter widget

ट्रंप के खिलाफ महाभियोग की कार्यवाही शुरू करने की अपील

0

अमेरिका में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के विरोध के स्वर अब तेज़ होने लगे हैं | ट्रंप को राष्ट्रपति पद से हटाने के लिए लोग सामने आने लगे हैं|  दरअसल, एक रिपोर्ट में यह दावा किया गया है कि डोनाल्‍ड ट्रंप अमेरिका के राष्‍ट्रपति बनने के बाद से 8,158 झूठ या गुमराह करने वाले दावे कर चुके हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, ट्रंप ने अपने कार्यकाल के पहले साल में रोजाना 5.9 झूठ या गुमराह करने वाले दावे किए। इस रिपोर्ट के सामने आने के बाद शुक्रवार को डेमोक्रेट सीनेटर एलिजाबेथ वारेन ने अमेरिका की प्रतिनिधि सभा से राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग की कार्यवाही शुरू करने की अपील (Imprisonment Proceedings Against Trump Should Begin) की। ऐसा करने वाली वे राष्ट्रपति पद की पहली उम्मीदवार हैं। उन्होंने चुनाव में रूसी हस्तक्षेप की जांच के नतीजों का हवाला देते हुए यह अपील की।

कंगाल पाक के वित्त मंत्री ने की इस्तीफे की पेशकश

दरअसल, विशेष अधिवक्ता रॉबर्ट मूलर की 22 महीने की जांच के नतीजों की संशोधित रिपोर्ट में 400 से अधिक पृष्ठ हैं|  इस दस्तावेज में कहा गया है, “ट्रंप के चुनाव प्रचार अभियान में रूस के हस्तक्षेप की कोशिशों के साथ मिलीभगत नहीं थी, लेकिन उसने पाया कि राष्ट्रपति रूस के हथकंडों से फायदा पाकर खुश थे और उन्होंने लगातार उनकी (मूलर की) जांच को बाधित करने की कोशिश की। एलिजाबेथ वारेन ने कहा, ‘इसका मतलब है कि संसद को अमेरिका के राष्ट्रपति के खिलाफ महाभियोग की कार्यवाही शुरू करनी चाहिए (Imprisonment Proceedings Against Trump Should Begin)।“

बस पर आतंकी हमला,14 से अधिक की मौत और….

Image result for एलिजाबेथ वॉरेन

मैसाच्युसेट्स से सांसद ने ट्वीट किया, “मूलर की रिपोर्ट में ऐसे तथ्य दिए गए हैं कि एक शत्रु विदेशी सरकार ने डोनाल्ड ट्रंप की मदद करने के लिए हमारे 2016 के चुनाव पर हमला किया और डोनाल्ड ट्रंप ने उस मदद का स्वागत किया। निर्वाचित होने के बाद डोनाल्ड ट्रंप ने इस मामले की जांच को बाधित किया।“

गौरतलब है कि अमेरिका में सीनेटर एलिजाबेथ वॉरेन ने पिछले दिनों राष्ट्रपति पद के लिए खोज समिति बनाने का ऐलान किया था,  जिससे 2020 का चुनाव लड़ने की इच्छा जताने वाली डेमोक्रेटिक पार्टी की वे पहली नेता बन गईं हैं। वॉरेन (69) नवंबर में हुए मध्यावधि चुनाव में मैसाचुसेट्स से पुन: निर्वाचित हुई हैं। वे राष्ट्रपति डॉनाल्ड ट्रंप की कटु आलोचक के तौर पर जानी जाती हैं।

Related image

कैलिफॉर्निया से भारतीय मूल की अमेरिकी सीनेटर कमला हैरिस और कांग्रेस में हवाई से हिन्दू महिला सदस्य तुलसी गब्बार्ड भी डेमोक्रेटिक पार्टी के उन नेताओं में शुमार हैं, जिन्हें ट्रंप को चुनौती देने के लिए संभावित उम्मीदवार के तौर पर देखा जा रहा है।

अनिल को मिली थी फ्रांस से 1052 करोड़ की रिश्वत !

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.