आतंकवाद पर हो कार्रवाई, तब होगी बात

0

पाकिस्तान काफी दिनों से कहता आ रहा है कि वह बातचीत को तैयार है, परन्तु भारतीय उसके दोगले व्यवहार से भलीभांति परिचित हो चूका है, इसलिए उसकी बातों पर ध्यान नहीं देता है | वह जानता है कि पाकिस्तान धोखा देगा|

West Bengal violence : बंगाल में TMC-BJP के बीच बमबारी

हाल ही में पाक मीडिया में दावा किया गया था कि पाकिस्तान से बात करने के लिए भारत तैयार है। अब इस पर भारतीय विदेश मंत्रालय ने सफाई दी है। बताया जा रहा है कि डिप्लोमैटिक प्रैक्टिस के अनुसार, पीएम और विदेश मंत्रालय ने पाक में अपने समकक्षों से मिले बधाई संदेशों का जवाब दिया है। अपने संदेशों में उन्होंने (पीएम मोदी ने) इस बात पर प्रकाश डाला है कि भारत सभी पड़ोसियों, पाक के साथ सामान्य और सहयोगी संबंध चाहता है।

दरअसल, दोनों देशों की बातचीत को लेकर इमरान ने उन्हें बधाई सन्देश भेजा| प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विदेश मंत्री एस.जयशंकर ने पाकिस्तान के पीएम इमरान खान के बधाई संदेश का जवाब दिया है| पीएम मोदी ने इमरान को चिट्ठी लिखी है| चिट्ठी में लिखा है कि दोनों देशों के बीच संबंध तभी सुधर सकते हैं, जब पाकिस्तान आतंकवाद पर कोई ठोस कार्रवाई करके दिखाए|

अमेरिका करने वाला है H-1B वीज़ा की संख्या कम

भारतीय विदेश मंत्रालय के अनुसार, पीएम मोदी ने कहा, इसके लिए (बातचीत के लिए), विश्वास का वातावरण, आतंक, हिंसा और शत्रुता से मुक्त माहौल बनाना अहम है। विदेश मंत्रालय ने आतंक और हिंसा की छाया से मुक्त वातावरण बनाने की जरूरत पर ज़ोर दिया।

भारत का कहना है कि जब तक पाकिस्तान की ओर से आतंकवाद पर कार्रवाई नहीं की जाती, तब तक बातचीत संभव नहीं है| हालांकि इमरान को भेजे गए पत्र में आंतक मुक्त माहौल का भी जिक्र है, इस पर दोनों देशों के बीच बातचीत कब शुरू होगी इस पर कोई फैसला नहीं लिया गया है| पत्र में कहा गया कि भारत अपने पड़ोसी देशों के बीच संबंध बेहतर चाहता है| विकास के लिए शांति स्थिरता ज़रूरी है|

उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान और विदेश मंत्री एफएम कुरैशी ने लोकसभा चुनाव जीतने पर पीएम नरेंद्र मोदी को बधाई संदेश दिया था| उसके बाद 8 जून को इमरान खान ने चिट्ठी में लिखा था कि कश्मीर मुद्दे सहित सभी सुलह योग्य समस्याओं के समाधान के लिए नई दिल्ली के साथ इस्लामाबाद वार्ता करना चाहता है|

गौरतलब है कि पाकिस्तान भारत से लगातार बातचीत की पेशकश कर रहा है, लेकिन भारत का स्टैंड साफ है कि आतंकवादक और बातचीत एक साथ नहीं हो सकती| पिछले दिनों किर्गिस्तान की राजधानी बिश्केक में आयोजित शंघाई कॉरपोरेशन ऑर्गनाइजेशन (एससीओ) समिट में पीएम मोदी और इमरान खान की मुलाकात हुई थी| दोनों नेताओं ने एक-दूसरे की अभिवादन किया था. हालांकि अभिवादन सामान्य प्रकृति का था और यह उस वक्त हुआ, जब दोनों नेता लाउंज में थे|

लड़की का कमाल, एक साथ क्रैक किए सारे एंट्रेंस एग्‍जाम!

Share.