website counter widget

भूकंप के तेज़ झटकों के कारण 6 की मौत, 75 से अधिक घायल

0

भारत (INDIA) के कई क्षेत्रों तथा नेपाल में भूकंप के तेज़ झटकों से अप्रैल के आखिरी सप्ताह में लोग थर्रा गए  थे (Earthquake In South Western China  )। उस समय उत्तर प्रदेश के कई इलाकों तथा अरुणाचल प्रदेश में भी भूकंप के तेज़ झटके महसूस किए गए थे। अब फिर तेज़ भूकंप की ख़बर आ रही है, जिसने लोगों को अस्त-व्यस्त कर दिया है| इस भूकंप के कारण 6 लोगों की मौत हो गई है वहीं 75 से अधिक लोग घायल हो गए हैं|

जेपी नड्डा बने बीजेपी कार्यकारी अध्यक्ष

दरअसल इस विनाशकारी और जानलेवा भूकंप की खबर चीन से आ रही है| चीन के दक्षिण-पश्चिमी सिचुआन प्रांत में सोमवार को एक के बाद एक भूकंप के पांच झटके महसूस किए गए। इनमें से एक की तीव्रता 6.0 थी। भूकंप (Earthquake In South Western China ) ने समूचे प्रांत को हिलाकर रख दिया, जिसमें 6 की मौत हो गई, जबकि 75 लोगों के घायल होने की खबर है। चीन भूकंप नेटवर्क केंद्र के मुताबिक भूकंप का केंद्र यिबीन शहर के बाहरी इलाके में 16 किलोमीटर की गहराई में स्थित था। भूकंप रात में करीब 10:55 बजे आया। इसके बाद कम तीव्रता के भूकंप आये।

वहीं दूसरी ओर, चीन-उत्तर कोरिया सीमा के पास ”संदिग्ध विस्फोट” के कारण सोमवार को भूकंप महसूस किया गया। चीनी भूकंप विज्ञान अधिकारियों ने यह जानकारी दी। कंपन से महज करीब एक घंटा पहले शी जिनपिंग की उत्तर कोरिया की आगामी यात्रा की खबर आई थी। चीनी भूकंप नेटवर्क केंद्र के अनुसार उत्तर पूर्वी जिलिन प्रांत के हुनचुन शहर में स्थानीय समयानुसार शाम करीब सात बजकर 38 मिनट पर 1.3 तीव्रता का कंपन महसूस किया गया। हालांकि विस्फोट का कारण अस्पष्ट है।

इंदौर में बदमाशों के हौसले बुलंद, बैंक में लूट

इससे पहले भी उत्तर कोरिया द्वारा किए गए परमाणु परीक्षण से क्षेत्र में कंपन महसूस किए जा चुके हैं और उत्तर कोरिया से लगती चीनी की उत्तरी सीमा के पास झटके महसूस किए गए हैं। सितंबर 2017 में माउंट मंतप के अंतर्गत पुंगये-री में उत्तर कोरिया के परमाणु स्थल पर परमाणु परीक्षण किया गया था, जिसके कारण चीन की समूची उत्तरी सीमा में 6.3 तीव्रता के भूकंप के झटके महसूस किए गए थे।

कुछ दिनों पूर्व ही रूस के दक्षिणी कुरील द्वीप समूह में भी भूकंप के झटके महसूस किए गए थे। रूस के भूगर्भ सर्वेक्षण विभाग की शाखा के अनुसार, “कुरील द्वीपों पर तड़के करीब चार बजकर 18 मिनट पर भूकंप के झटके महसूस किए गए। रिक्टर पैमाने पर भूकंप की तीव्रता 4.5 मापी गई।“ भूकंप का केन्द्र युजहनो कुरिलिस्क से 57 किलोमीटर दूर जमीन की सतह से 27 किलोमीटर की गहराई में स्थित था।

कमलनाथ ने अमित शाह को खत में क्या लिखा?

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.