फिलीपीन में भूकंप ने मचाई जबरदस्त तबाही

0

फिलीपीन (Philippines) के दक्षिणी हिस्से में आज यानी मंगलवार 29 अक्टूबर को जोरदार भूकंप (Earthquake) आया। इस भूकंप की वजह से 2 लोगों की मौत हो गई जबकि कई अन्य लोग घायल हो गए। बताया जा रहा है कि भूकंप की वजह की इमारतें बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई। रिक्टर पैमाने पर भूकंप की तीव्रता 6.6 बताई जा रही है। यह भूकंप मंगलवार सुबह आया। वहीं प्राप्त जानकारी के अनुसार तीव्र भूकंप की वजह से एक स्कूल की इमारत गिर जाने की वजह से एक बच्चे की मौत हो गई और कई अन्य छात्र घायल हुए हैं। अमरीकी भूगर्भ सर्वेक्षण (United States Geological Survey) की जानकारी के मुताबिक भूकंप  के बाद स्थानीय लोग अपने घरों से निकलकर सड़कों पर आ गए।

गौरतलब है कि फिलीपीन के मिंदानाओ द्वीप पर भूकंप के झटके महसूस किए गए। फिलीपीन में अक्सर भूकंप के झटके महसूस किए जाते हैं इसकी वजह है इस क्षेत्र का भूकंपीय रूप से सक्रिय क्षेत्र ‘रिंग ऑफ फायर’ पर स्थित होना। यूएसजीएस ने कहा कि शुरुआत में इस भूकंप की तीव्रता 6.8 मापी गई थी। हालांकि इस भूकंप की वजह से सुनामी का कोई भी खतरा नहीं है। वहीं इस भूकंप के केंद्र के नजदीकी शहर तुलुनन के मेयर रीयुल लिम्बुनगन का कहना है कि उनका नगरपालिका का हॉल इस भूकंप की वजह से पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया।

मेयर रीयुल लिम्बुनगन ने एएफपी को जानकारी देते हुए कहा कि उन्हें इस भूकंप में घायल हुए कई लोगों की जानकारी मिल रही हैं। हालांकि अभी इस बात की पुष्टि नहीं की गई है। वहीं कस्बे के प्रवक्ता का कहना है कि भूकंप के दौरान एक स्कूली छात्र बच कर स्कूल से निकलने की कोशिश कर रहा था तभी अचानक स्कूल की दीवार उस पर गिर जाने से उसकी मौत हो गई। हालांकि कई दूसरे बच्चे इमारत से सुरक्षित बाहर निकलने में सफल रहे। इसके अलावा स्थानीय आपदा प्रबंधन कर्मियों को एक व्यक्ति के लापता हो जाने की खबर मिली है। अभी इस बात की पुष्टि नहीं की गई है।

फिलहाल राहत व बचाव कार्य जारी है। भूकंप की वजह से पूरे इलाके में बिजली और फोन सुविधाएं ठप्प हो गई हैं। यूएस जियोलॉजिकल सर्वे से मिली जानकारी के अनुसार 6.6 तीव्रता का भूकंप आने के बाद यहां कई अन्य छोटे-छोटे भूकंप के झटके आए। इसमें एक झटका 5.8 तीव्र वाला भी था। इसी क्षेत्र में 2 हफ्ते पहले भी 6.4 तीव्रता का भूकंप आया था जिसमे तकरीबन 5 लोगों की मौत हो गई थी और कई इमारतें भी जमीदोज हो गई थीं।

Prabhat Jain

Share.