36 क्रूर लोगों ने किया था यह अपराध

0

अदालत ने 36 लोगों को मौत की सजा सुनाई है, इन पर आरोप है कि सभी ने बड़ी हिंसक घटनाओं को अंजाम दिया| बताया जा रहा है कि सभी आरोपियों ने कई गिरजाघरों पर हमला किया और कई लोगों को मौत के घाट उतारा|

मौत की यह सज़ा मिस्र की अदालत ने सैन्य अदालत के कई गिरजाघरों पर जानलेवा बम विस्फोटों में शामिल लोगों को सुनाई है| बताया जा रहा है कि  काहिरा, अलेक्जेंड्रिया और नील नदी के डेल्टा में स्थित टांटा शहर के कोप्टिक चर्चों में कई बम विस्फोटों में कम से कम 80 लोग मारे गए थे| इस हमले की जिम्मेदारी आतंकी संगठन ‘इस्लामिक स्टेट’ ने ली थी| ये सभी लोग इस्लामिक स्टेट से ही जुड़े हैं|

गौरतलब है कि इसके पहले पिछले वर्ष दिसंबर माह में भी मिस्र की अदालत ने 15 आतंकियों को फांसी की सज़ा सुनाई थी| सभी आतंकी वर्ष 2013 में देश के पूर्वोत्तर में हुए एक हमले के आरोपी थे, जिसमें नौ सुरक्षाकर्मी मारे गए थे|

Share.