अस्पताल में आत्मघाती हमले में 20 की मौत

0

अफगानिस्तान के दक्षिणी शहर का एक अस्पताल बृहस्पतिवार तड़के आत्मघाती ट्रक बम विस्फोट से दहल गया। एक अधिकारी ने बताया कि इस धमाके में कम से कम 20 लोगों की मौत हो गई और 90 से अधिक लोग घायल हो गए। इस हमले में दक्षिणी जाबुल प्रांत की राजधानी कलत के अस्पताल का एक हिस्सा पूरी तरह बर्बाद हो गया और वहां खड़ी एंबुलेंस क्षतिग्रस्त हो गईं। तालिबान ने इस हमले की जिम्मेदारी ली।

अस्पताल में आत्मघाती हमले में 20 की मौत

अपने परिवार के बीमार सदस्यों से मिलने आए निवासी घायलों को शॉल एवं कंबलों से ढक कर क्षतिग्रस्त अस्पताल के भीतर ले गए जबकि अधिकारी गंभीर रूप से घायल लोगों को पास में कंदहार के अस्पतालों तक ले जाने की जद्दोजहद करते नजर आए। विस्फोट के शुरुआती घंटों में मृतकों एव घायलों के विरोधाभासी आंकड़े सामने आए। प्रांत के गवर्नर के प्रवक्ता गुल इस्लाम सेयाल ने मृतकों की संख्या 12 बताई थी लेकिन कहा था कि अधिकारी मलबे में लोगों की तलाश कर रहे हैं। प्रांतीय परिषद के प्रमुख अट्टा जन हकबयान ने मृतकों की संख्या 20 बताई। अमेरिका के साथ चल रही शांति वार्ता के इस महीने की शुरुआत में बंद हो जाने के बाद से लगभग रोज हमले कर रहे तालिबान का कहना है कि उसका निशाना पास की सरकारी खुफिया विभाग की इमारत थी।

आरोपी RJD विधायक के साथ, तेजस्वी यादव का हाथ

हकबयान ने कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा विभाग (एनडीएस) की इमारत की दीवार को नुकसान पहुंचा है। वह यह नहीं बता पाए कि इस हमले के हताहतों में खुफिया विभाग का कोई कर्मी भी शामिल था या नहीं। एपी खुफिया सेवाओं की एक इमारत को निशाना बना कर बृहस्पतिवार को किए गए कार बम धमाके में कम से कम 10 लोगों की मौत हो गई। जाबुल प्रांत के गवर्नर ने यह जानकारी दी। रहमतुल्ला यरमाल के मुताबिक, इस हमले में शहर का अस्पताल भी प्रभावित हुआ। इस हमले की जिम्मेदारी तालिबान के प्रवक्ता कारी यूसुफ अहमदी ने ली जिसने कहा कि यह राष्ट्रीय सुरक्षा निदेशालय के खिलाफ था।

योगी आदित्यनाथ बनेंगे प्रधानमंत्री!

-Mradul tripathi

Share.