रतलाम में कार्यकर्ता सम्मान समारोह

1

अपने हर कार्यक्रम को निराले और भव्य रूप से करने के लिए विख्यात रतलाम शहर के विधायक चेतन काश्यप ने रविवार को कार्यकर्ता सम्मान समारोह आयोजित किया। अपनी बम्पर जीत का श्रेय कार्यकर्ताओं की मेहनत को देते हुए काश्यप ने रतलाम की जनता का आभार माना। अपनी तरह के इस अनूठे आयोजन में जनता ने भी बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। इससे पहले कार्यक्रम में पहुंचने वाले हर कार्यकर्ता का भाजपा की महिला कार्यकर्ताओं ने तिलक लगाकर और माला पहनाकर स्वागत किया।

काश्यप ने माना कि प्रदेश में भाजपा अब बेशक विपक्ष में है, लेकिन उससे रतलाम के विकास में कोई बाधा नहीं आने देंगे। कांग्रेस सरकार ने यदि विकास को अवरुद्ध करने की कोशिश की तो सड़क पर उतरकर आंदोलन करने से भी पीछे नहीं हटेंगे। मंच से काश्यप ने शहर के विकास के प्रति अपनी प्रतिबद्धता को दोहराते हुए कांग्रेस पर भी निशाना साधा। कांग्रेस की गुटबाज़ी पर धावा बोलते हुए काश्यप ने दावा किया कि प्रदेश की कांग्रेस सरकार कुछ महीनों बाद ही गिर जाएगी और उसके बाद फिर भाजपा की सरकार बनेगी।

उपाध्याय ने भी किया कांग्रेस पर प्रहार

काश्यप के उद्बोधन से पहले सभा को संबोधित करते हुए भाजपा के चुनाव प्रभारी प्रेम उपाध्याय ने भी कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा। गौरतलब है कि कुछ दिन पूर्व कांग्रेस प्रत्याशी प्रेमलता दवे के भाई ने उन्हें बहन की हार की वजह मानते हुए उपाध्याय के साथ अभद्रता की थी। उपाध्याय ने इसकी शिकायत पुलिस में की है। प्रेमलता दवे की करारी हार और प्रदेश में कांग्रेस सरकार बनने के बाद उनके समर्थक निराशा में हैं। दवे को ब्राह्मण वोट मिलने की उम्मीद थी, लेकिन शहर के हर वर्ग ने काश्यप को वोट किया। इससे उनकी हार हुई। प्रेमलता दवे लगातार दूसरा चुनाव हारी हैं। इससे पहले महापौर के चुनाव में भाजपा की सुनीता यार्दे ने उन्हें पटखनी दी थी।

पूरे संभाग में सबसे बड़े अंतर से जीत और पूरे प्रदेश में सबसे ज्यादा मत-प्रतिशत लाकर चुनाव जीतने का रिकॉर्ड इस बार चेतन काश्यप ने बनाया है। काश्यप ने रतलाम की जनता को समझदार और परिपक्व बताते हुए इस रिकॉर्ड का असली हकदार जनता को बताया है। काश्यप कार्यक्रम के दौरान मंच पर सादगी भरे लहजे में दिखाई दिए। इस दौरान कई कार्यकर्ताओं ने उन्हें हार पहनाने की कोशिश की लेकिन उन्होंने वो हार कार्यकताओं को ही पहना दिए। उनका कहना था की आज के कार्यक्रम में सिर्फ कार्यकर्ताओं का ही सम्मान होना चाहिए क्योंकि ये जीत उनके परिश्रम को बदौलत ही मिली है।

रतलाम में मना जीत का जश्न

रतलाम में मिलादुन्नबी पर निकला विशाल जुलूस

रतलाम से 40 उम्मीदवार मैदान में…

Share.