पत्नी ने लिखवाई गुमशुदगी की रिपोर्ट, मिला शव

0

एक युवक की पत्नी और उसके परिवार वाले उसकी कई दिनों से तलाश कर रहे थे| पुलिस की लापरवाही के कारण परिजन उसका अंतिम संस्कार भी नहीं कर पाए| एक तरफ युवक के क्षेत्र की पुलिस उसके परिजन को चक्कर लगवाती रही, वहीं दूसरी ओर दूसरे जिले की पुलिस ने बिना जांच-पड़ताल किए लाश को लावारिस मानकर दफना दिया|

मामला मध्यप्रदेश के मंदसौर जिले के पीपल्या थाना क्षेत्र के कनघट्टी का है| यहां रहने वाला दिनेशचंद्र पिता प्यारचंद गायरी घर से ट्रक पर जाने का बोलकर निकला था| कई दिन बाद जब वह नहीं लौटा तो दिनेशचंद्र की पत्नी मंजूबाई ने 22 मई को पुलिस थाने में शिकायत की| पुलिसकर्मियों ने बिना शिकायत दर्ज किए मंजू को लौटा दिया और कोई कार्रवाई नहीं की| इसके बाद परिवार वाले लगातार दिनेश को तलाशते रहे| 8 जून को पुलिसकर्मियों ने मामले की शिकायत दर्ज की|

परिजन ने सोशल मीडिया पर भी दिनेश की फोटो डाली, लेकिन पुलिसकर्मियों ने अपनी ओर से कोई कार्रवाई नहीं की| सोशल मीडिया पर फोटो देखकर एक व्यक्ति ने परिजन को बताया कि ऐसे ही एक व्यक्ति का शव 30 मई को रतलाम जिले के माननखेड़ा में खेत पर मिला था| उस व्यक्ति का चेहरा कुचला हुआ था इसलिए उसकी पहचान नहीं हो पाई| इसके बाद पुलिसकर्मियों ने उसे दफना दिया|

दिनेश के कपड़ों एवं घड़ी के आधार पर परिजन ने उसकी शिनाख्त की| इसके बाद अदालत से आज्ञा लेकर मृतक की बॉडी को 12  जून को निकालकर परिजन को सौंप दिया गया| मामले में अदालत ने जांच के आदेश दिए हैं|

Share.