website counter widget

मध्य प्रदेश की तरफ बढ़ता मानसून

0

मानसून (Mansoon) से जुड़ी मप्र के लिए अच्छी ख़बर अब यह है कि गुजरात के कच्छ इलाके पर बना कम दबाव का क्षेत्र उत्तरी मध्य प्रदेश और दक्षिणी उत्तर प्रदेश की ओर बढ़ रहा है| जो प्रदेश में मानसून के लिहाज से सही है| मौसम विज्ञान विभाग (weather department) ने बुधवार को कहा कि इस कम दबाव के क्षेत्र के कारण गुजरात के उत्तरी जिलों और सौराष्ट्र में भारी बारिश हुई है| आईएमडी ने कहा कि अगले दो दिनों में गुजरात में अधिकतम तापमान दो से तीन डिग्री तक बढ़ सकता है और कच्छ के अलावा राज्य के कुछ हिस्सों में बारिश हो सकती है| मौसम विभाग के मुताबिक, अगले 2-3 दिन में मॉनसून के बिहार, झारखंड, ओडिशा, गोवा, कोंकण, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु में पहुंचने का अनुमान है (Madhya Pradesh Weather Update )|

बंगाल में फिर डॉक्टरों की पिटाई, क्या फिर होगी हड़ताल ?

अरब सागर और बंगाल की खाड़ी वाली मानसून की दोनों ब्रांच सक्रिय होने से मानसून तेजी से आगे बढ़ेगा| मौसम विभाग ने एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा कि सोमवार को बने कम दबाव के क्षेत्र के बाद अब वह ऊपरी चक्रवात के साथ मध्य प्रदेश के उत्तरी इलाकों और उत्तर प्रदेश के दक्षिणी इलाकों की ओर बढ़ गया है(Madhya Pradesh Weather Update)| ऐसे में अब मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश में बारिश होने की उम्मीद है| इससे कच्छ में आने वाले दिनों में बारिश होने की उम्मीद कम हो गई है और यहां मौसम साफ बना रहेगा| अगले दो दिनों में राज्य के दूरदराज के इलाकों में बारिश हो सकती है|

अशोक गहलोत कांग्रेस के नए अध्यक्ष!

बता दें कि इससे पहले मौसम विभाग (weather department) के अनुसार 8 जून को केरल पहुंचने वाला मानसून (Mansoon Touch Kerala Around 8 June) बंगाल की खाड़ी से आने वाली हवाओं से आगे बढ़ने और इसे मज़बूत होने के साथ देश के अन्य हिस्सों में दस्तक देगा| मौसम विज्ञानिक सोमा सेन रॉय के मुताबिक मानसून के देर से आने से बारिश की मात्रा में किसी तरह की कमी नहीं आएगी|

मप्र में बिजली समस्या का कारण चमगादड़

Summary
Review Date
Author Rating
51star1star1star1star1star
ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.