शिमला से ठंडी दिल्ली…

3

धरती का स्वर्ग कहे जाने वाले जम्मू-कश्मीर में बर्फ़बारी के कारण पारा हिमांक बिंदु से काफी नीचे चला जाता है वहीं हिमाचल के पहाड़ भी रुई के ढेर की भांति प्रतीत होते हैं। पहाड़ों पर होने वाली बर्फ़बारी मैदानी इलाकों में ठंड का क़हर बढ़ा देती है। हर साल देश की राजधानी दिल्ली ठंड की मार झेलती है। इस बार के सीज़न में राजधानी दिल्ली में सबसे ठंडा दिन मंगलवार 18 दिसंबर को रहा। राजधानी दिल्ली सहित पूरे उत्तर भारत में शीतलहर का क़हर जारी है। लगातार बढ़ती ठंड और कोहरे ने देश की राजधानी को भी कांपने पर मजबूर कर दिया है।

तीन दिन की बर्फबारी से जमा शिमला

कोहरे का असर अब यातायात पर भी दिखाई देने लगा है। घने कोहरे की वजह से विजिबिलिटी कम होने लगी है, जिस वजह से ट्रेनों की रफ़्तार कम हो गई है और कई ट्रेन देरी से चल रही हैं। राजधानी दिल्ली में बुधवार को 5.2 डिग्री सेल्सियस तापमान रिकॉर्ड किया गया। मौसम विभाग की जानकारी के अनुसार, अभी ठंड और बढ़ने के आसार हैं। दिल्ली, पंजाब और हरियाणा में तापमान सामन्य से काफी कम है और शीतलहर ने लोगों के लिए परेशानी खड़ी कर दी है। मौसम विभाग के एक अधिकारी ने जानकारी दी कि पंजाब का आदमपुर एक बार फिर दोनों राज्यों में सबसे ठंडा स्थान रहा। यहां का तापमान 1.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

बर्फ़बारी से मौसम हुआ सुहाना

पंजाब के अन्य स्थानों पर भी तापमान में काफी गिरावट आई है। फरीदकोट का भी न्यूनतम तापमान 2.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जबकि बठिंडा में तापमान 3 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। इसके अलावा अमृतसर में 3.6 डिग्री, हलवाड़ा में 4.8 डिग्री, लुधियाना में 4 डिग्री, पटियाला में 5.6 डिग्री, पठानकोट में 5 डिग्री और गुरदासपुर में भी 5 डिग्री सेल्सियस तापमान रिकॉर्ड किया गया। वहीं हरियाणा का नारनौल राज्य में सबसे ठंडा स्थान रहा। यहां पारा 2.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

रातभर बर्फ़बारी से परेशान रहे 430 लोग

Share.