तीन दिन की बर्फबारी से जमा शिमला

4

हिमाचल प्रदेश में पिछले 3 दिनों से हो रही बर्फ़बारी और बारिश आज थम गई है। 3 दिन बाद प्रदेश में धूप खिली और मौसम साफ़ हो गया। सीजन की पहली बर्फ़बारी ने जहां पर्यटकों को हिमाचल की राजधानी शिमला आने पर मजबूर किया, वहीं इससे तापमान में काफी गिरावट आई।

गुरुवार शिमला की सबसे ऊंची चोटी जाखू और कुफरी के अलावा ऊंचाई वाले कई क्षेत्रों में बर्फ़बारी हुई। मनाली के रोहतांग और सोलंगनाला में भी काफी बर्फ़बारी हुई। रोहतांग में 4 फ़ीट और सोलंगनाला में एक फ़ीट तक बर्फ़बारी हुई।

तीन दिन तक हुई इस बर्फ़बारी से पूरे प्रदेश में शीतलहर चलने लगी। पूरा प्रदेश बर्फ की सफ़ेद चादर  से ढंक गया और ठंड से कांपने लगा। गुरुवार को बर्फ़बारी के कारण कई मार्ग बाधित रहे और चंबा, शिमला, कुल्लू और सिरमौर में कई मार्गों पर यातायात बाधित रहा।

मिली जानकारी के अनुसार, गुरुवार की शाम तक पूरे प्रदेश में 38 से ज्यादा मार्ग बंद हो चुके थे। इन मार्गों पर यातायात पूरी तरह से बंद हो गया था। तीन दिन से हो रही बर्फ़बारी के थमने के बाद शुक्रवार को यातायात बहाल किया जा सका। कुल्लू जिले के औट-लुहरी-सैंज एनएच 305 को बहाल करने की कोशिश जारी है और जल्द ही इस पर भी यातायात शुरू हो जाएगा।

पूरे प्रदेश में हुई बर्फ़बारी ने सैलानियों को आकर्षित किया है। इस बर्फ़बारी से जहां पूरा प्रदेश कांप रहा है वहीं स्थानीय कारोबारियों और होटल कारोबारियों के चेहरे पर ख़ुशी खिली हुई है।

कुफरी का तापमान माइनस में चला गया है, लेकिन पर्यटकों की आवाजाही ने यहां के मौसम को खुशनुमा बना दिया है।

शिमला: रेल लाइन पर गिरे पेड़ और मलबा, परेशान हुए यात्री

बर्फ़बारी से मौसम हुआ सुहाना

अंधेरे में भी दिखेंगे हसीन नज़ारे

Share.